ओमिक्रोन से निपटने की तैयारी शुरू : प्राइवेट स्कूलों को ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था करने के निर्देश, जिलों में कोविड केयर सेंटरों की तैयार करने को कहा

ओमिक्रोन से निपटने की तैयारी शुरू : प्राइवेट स्कूलों को ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था करने के निर्देश, जिलों में कोविड केयर सेंटरों की तैयार करने को कहा

PATNA : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने रविवार को कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के नये वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट मोड में आ गया है.  जहां सभी जिलों में संक्रमण के इस नये वैरिएंट की रोकथाम के संबंध में जिला स्तर पर जरूरी दिशा-निर्देश दिये गये हैं. और पहले से बनाये गये डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर और कोविड केयर सेंटर में लगे बेड और उपकरणों की साफ-सफाई कर क्रियाशील करने के आदेश दिये गये हैं। वहीं प्राइवेट स्कूलों को भी यह निर्देश दिया गया है कि ऑनलाइन क्लास शुरू करने की तैयारी शुरू कर दें।   इसके साथ ही बिहार सरकार ने ओमिक्रोन की रोकथाम को लेकर केंद्र सरकार से जारी दिशा-निर्देश का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

बरती जा रही है पूरी चौकसी

मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि विदेश से भारत लौटने वाले बिहार के प्रवासियों की सूची जिलावार प्रतिदिन भेजी जा रही है. सूची के आधार पर चिह्नित व्यक्तियों से दूरभाष पर संपर्क कर और उनके घर पर स्वास्थ्यकर्मियों को भेज कर सैंपल कलेक्शन किया जा रहा है। विदेश से लौटने वाले व्यक्तियों की जांच पटना, गया और दरभंगा एयरपोर्ट पर की जा रही है. कम- से- कम पांच प्रतिशत यात्रियों की आरटीपीसीआर जांच के लिए रैंडम सैंपल संग्रह करने के लिए कहा गया है, जबकि अधिक -से -अधिक रैपिड एंटीजन किट से जांच की जायेगी. उन्होंने कहा कि बिहार में महामारी को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है।

नगर निगम ने शुरू सेनेटाइजेशन का काम 

पटना में ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए अब नगर निगम ने भी अपनी तैयारी तेज कर दी है. रविवार को निगम की ओर से कई जगहों पर सेनेटाइजेशन का काम कराया गया है. सड़क पर आते-जाते लोगों और वाहनों को सेनेटाइज किया गया.

स्कलों के लिए जारी किया गया गाइडलाइन

पटना के प्राइवेट स्कूलों में अब जल्द ही एडमिशन की प्रक्रिया शुरू होने वाली है. शिक्षा विभाग ने इससे पहले अब कुछ निर्देश जारी किये हैं. जिसका पालन करना अनिवार्य होगा। यह निर्देश संक्रमण के खतरे को देखते हुए बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने जारी किया है.

1. शिक्षण संस्थानों के संचालन में कोविड अनुकूलन व्यवहार सम्बन्धी जारी मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) को यथावत लागू रखा जाय.

2. नये कोरोना वायरस वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) को ध्यान में रखकर सभी छात्र-छात्राएं एवं विद्यालय के कर्मियों के लिए मास्क का उपयोग एवं हैन्ड सैनिटाइजेशन का अनुपालन विशेष रूप से सुनिश्चित किया जाय.

3. शैक्षणिक संस्थानों में ऑनलाईन माध्यम से शिक्षण/ मुल्यांकन की व्यवस्था के विकल्प को भी यथा सम्भव उपलब्ध रखा जाय.

4. ऑफलाईन शिक्षण व्यवस्था के तहत यह आवश्यक होगा कि विद्यालय में व्यस्त (Engaged) सभी वयस्क कर्मियों को कोविड-19 टीका का दोनों डोज लेने के बाद ही विद्यालय परिसर में प्रवेश की अनुमति दी जाय. प्रतिदिन विद्यालय परिसर / वाहनों को सेनिटाइज अवश्य किया जाय.

5. विद्यालय में नामांकित छात्र-छात्राओं के जरा भी तबीयत खराब होने की शिकायत पर उन्हें ऑफलाईन शिक्षण व्यवस्था से अलग रखा जाय.


Find Us on Facebook

Trending News