नशा उन्मूलन के लिए कैदियों को किया जागरूक, लखीसराय जेल में हुआ विधिक जागरूकता शिविर आयोजन

नशा उन्मूलन के लिए कैदियों को किया जागरूक, लखीसराय जेल में हुआ विधिक जागरूकता शिविर आयोजन

लखीसराय. राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार -नालसा नई दिल्ली एवं बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार-बालसा पटना के निर्देश पर 20 अगस्त को मंडल कारा लखीसराय में जिला विधिक सेवा प्राधिकार के प्रभारी सचिव सह अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तृतीय श्रीराम झा, न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी देवव्रत कुमार विधिक जागरूकता शिविर एवं कारा का औचक निरीक्षण किया जो देर रात्रि 8:00 बजे के करीब समाप्त हुई. प्रभारी सचिव श्रीराम झा की अध्यक्षता में नशीली दवाओं के दुरुपयोग और नशीली दवाओं के उन्मूलन विषय पर विधिक जागरूकता शिविर को संबोधित किया गया. उन्होंने कहा कि इस आयोजन का एकमात्र उद्देश्य यह बताना है कि जब तक कोई नशा नहीं करता है तब तक कोई अपराध घटित नहीं होता है. झा ने कैदियों से बताया कि अगर किसी कैदी को नशा की लत है, वह उसके कारण परेशान रहता है तो उसका निराकरण हेतु पुनर्वास केंद्र एवं नशा मुक्ति केंद्र की व्यवस्था सरकार द्वारा की गई है.

न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी देवव्रत कुमार ने कहा कि युवाओं में नशे की लत एक गंभीर समस्या बन गई है. भारत में नशीली दवाओं का खतरा बढ़ रहा है यह अत्यंत ही चिंता का विषय है. नशा लेते ही आर्थिक स्थिति खराब होने लगती है. कुमार ने यह भी कहा कि राज्य सरकार भी इस और बहुत ही जागरूकता फैला रही है इसका फायदा लोगों को उठाना चाहिए। 

प्राधिकार के रिटेनर अधिवक्ता शीतेष सुधांशु ने कहा कि नवयुवकों किशोरों एवं बालकों में ड्रग तस्करी एवं दुरुपयोग की असाधारण बढ़ोतरी गंभीर व जटिल निहितार्थ सूचित करती है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य एवं अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित करती है. इसका रोकथाम राज्य के साथ-साथ समाज की सर्वोत्तम प्राथमिकता है. यह एक खुला राज है कि ड्रग नशा ने निर्दोष बच्चों नव बालक नव युवकों एवं महिलाओं के ऊपर अपना भयानक शिकंजा कस लिया है.

सुधांशु ने कहा कि नालसा ने नशे की लत छुड़ाने एवं पुनर्वास हेतु एक योजना तैयार की गई है. जिसे नशा पीड़ितों को विधिक सेवाएं एवं नशे का उन्मूलन के लिए विधिक सेवाएं योजना 2015 का गठन किया गया है .. शिविर में प्राधिकार के महिला रिटेलर अधिवक्ता रोहिणी दास कुमार विकास चंद्र जेल जेल विजिटिंग अधिवक्ता सहित नंदन सिंह पैनल अधिवक्ता अशोक ठाकुर लोक अदालत के सहायक संतोष कुमार सहित सैकड़ों बंदी उपस्थित थे।


Find Us on Facebook

Trending News