स्वास्थ्य विभाग का दावा, 48 घंटे में तय हो जाएगा प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज का रेट, प्रधान सचिव बोले-नहीं चलने दूंगा मनमानी

स्वास्थ्य विभाग का दावा, 48 घंटे में तय हो जाएगा प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज का रेट, प्रधान सचिव बोले-नहीं चलने दूंगा मनमानी

पटना : बिहार में कोरोना के तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच राज्य सरकार ने यह फैसला लिया था कि कोरोना मरीजों का इजाल प्राइवेट अस्पतालों में भी किया जाएगा. इसके साथ ही सरकार ने यह भी दावा किया था कि प्राइवेट अस्पतालओं में इलाज का रेट भी फिक्स किया जाएगा ताकि प्राइवेट अस्पतालों मनमानी नहीं कर पाए.

लेकिन इलाज तो चालू हो गया पर रेट तय नहीं हो पया. जिसके बाद प्राइवेट अस्पतालों से लगातार कोरोना मरीज के इलाज के नाम पर वसूली की बात सामने आने लगी. आरोप लगने लगा कि प्राइवेट अस्पतालों में ज्यादा फीस लिया जा रहा है. लेकिन अब स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने यह दावा किया है कि 48 घंटे के अंदर प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज की दर तय कर दी जाएगी.उसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा है कि वो किसी भी हाल में कोरोना के नाम पर प्राइवेट अस्पतालों को मनमानी नहीं करने देंगे.

गौरतलब है कि इलजा की दर तय करने की जिम्मेदारी डीएम को दी गई थी पर अबतक कोरोना इलाज का रेट तय नहीं हो पाया है.लेकिन अब स्वास्थ्य विभाग इस पर गंभीरता से विचार कर रहे है. जानकारी के मुताबिक राज्य में प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमितों के इलाज की दर अस्पताल में उपल्बध सुविधाओं को देखते हुए तय की जाएंगी. ऐसी जानकारी के है कि सुविधाओं के आधार पर अस्पतालों को तीन कैटेगरी में बांटा जाएगा.

Find Us on Facebook

Trending News