निजी स्कूलों के लेकर बिहार सरकार का बड़ा निर्णय,अब इन शर्तों पर खरा उतरने के बाद ही मिलेगा NOC

निजी स्कूलों के लेकर बिहार सरकार का बड़ा निर्णय,अब इन शर्तों पर खरा उतरने के बाद ही मिलेगा NOC

पटना। बिहार में प्राइवेट स्कूलों के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए सरकार ने नया फैसला लिया है।  शिक्षा के अधिकार के तहत अब निजी स्कूलों को भी एनओसी तभी मिलेगा जब उन स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षक प्रशिक्षित होंगे। इसको लेकर पटना जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा सभी प्राइमरी स्कूलों के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दी गई है

इस नोटिफिकेशन के अनुसार निजी स्कूलों को संबद्धता लेने के लिए ट्रेंड शिक्षकों की सूची दिखानी होगी। पटना जिला शिक्षा कार्यालय ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। डीईओ कार्यालय की मानें तो सरकारी स्कूलों में ट्रेंड शिक्षक की ही नियुक्ति होती है, लेकिन प्राइवेट स्कूलों में इस नियम का पालन नहीं किया जाता। लेकिन अब प्राइवेट स्कूलों को एनओसी के आवेदन देने के साथ ही अपने स्कूलों के प्रशिक्षित शिक्षकों की जानकारी देनी होगी। इसके साथ ही कुल छात्रों के बारे में भी जानकारी देनी होगी।

तीन किमी के दायरे में सिर्फ एक स्कूल को मान्यता

सबसे बड़ा बदलाव यह किया जा रहा है कि अब 1 से 3 किलोमीटर की परिधि में एक ही निजी स्कूल होगा। इस पर सॉफ्टवेयर के द्वारा नजर रखी जाएगी फिलहाल इसके लिए सॉफ्टवेयर डेवलप किया जा रहा है। जो पूरी व्यवस्था का निगरानी करेगा। बताया गया कि डीईओ कार्यालय को गुमराह कर अभी कई ऐसे स्कूल खुले हैं जिनके कारण सरकारी स्कूलों में नामांकन कम हो रहा है। अगर इस नियम को पटना में लागू किया जाता है तो कई बड़े स्कूल इसके दायरे में आ जाएंगे। 

40 लाख बच्चे घटे हैं सरकारी स्कूलों में

बता दें फिर कुछ दिन पहले यह बात सामने आई थी कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या लगातार घट रही है पिछले 5 सालों में लगभग 40 लाख बच्चे कम हुए हैं। इसके विपरीत प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है जिसके बाद सरकार ने यह फैसला किया है कि सरकारी स्कूलों की स्थिति सुधारने के लिए प्राइवेट स्कूलों के नियमों में बदलाव किया जाएगा। जिला शिक्षा कार्यालय का यह नया आदेश उसी का हिस्सा बताया जा रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News