हिमाचल प्रदेश विधानसभा गेट पर लगे खालिस्तान समर्थक झंडे, मुख्यमंत्री की आतंकी संगठन को कड़ी चेतावनी

हिमाचल प्रदेश विधानसभा गेट पर लगे खालिस्तान समर्थक झंडे, मुख्यमंत्री की आतंकी संगठन को कड़ी चेतावनी

DESK. खालिस्तान समर्थकों ने रविवार सुबह अपनी हरकत से हड़कंप मचा दिया. हिमाचल प्रदेश  विधानसभा के मुख्य गेट और चहारदीवारी पर खालिस्तान समर्थक झंडे लगा देख लोग सकते में आ गए. इस घटना के बाद से सनसनी फैल गयी. धर्मशाला में स्थानीय लोगों ने जब विधानसभा की गेट में खालिस्तान समर्थक झंडे देखे तो उन्होंने यह यह जानकारी प्रशासन को दी. 

घटना के तुरंत बाद तमाम बड़े आला अधिकारी पहुंचे और प्रशासन तुरंत हरकत में आया. इसके बाद झंडे को वहां से हटाया गया. सिख फॉर जस्टिस संगठन के चीफ गुरपतवंत सिंह पन्नू ने हिमाचल के सीएम को पत्र लिख कर खालिस्तानी झंडे लगाने की धमकी दी थी. पत्र में धमकी देते हुए कहा गया था कि वह शिमला में जरनैल सिंह भिंडरावाले और खालिस्तान का झंडा फहरायेगा. माना जा रहा है कि उसी धमकी के बाद खालिस्तान समर्थकों ने झंडा लगाया है. 

हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि धर्मशाला विधानसभा परिसर के गेट पर रात के अंधेरे में खालिस्तान के झंडे लगाने वाली कायरतापूर्ण घटना की मैं निंदा करता हूं. इस विधानसभा में केवल शीतकालीन सत्र ही होता है इसलिए यहां अधिक सुरक्षा व्यवस्था की आवश्यकता उसी दौरान रहती है. इसी का फायदा उठाकर यह कायरतापूर्ण घटना को अंजाम दिया गया है, लेकिन हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. इस घटना की त्वरित जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. मैं उन लोगों को कहना चाहूंगा कि यदि हिम्मत है तो रात के अंधेरे में नहीं, दिन के उजाले में सामने आएं.

कांगड़ा के एसपी कुशल शर्मा ने इस मामले को लेकर कहा कि यह घटना देर रात या अलस्सुबह की है. इसके पीछे कौन लोग हैं इसकी पड़ताल की जा रही है. फ़िलहाल पुलिस ने विधानसभा गेट से खालिस्तानी झंडे हटवा दिये हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा माना जा रहा है कि यह पंजाब से आये किसी यात्री की हरकत हो सकती है. कहा कि हम आज इस घटना में केस दर्ज कर रहे हैं.

पिछले कुछ महीनों के दौरान पंजाब सहित सीमावर्ती कई राज्यों में खालिस्तान समर्थक अपनी हरकत से खुद को सुर्खी में लाते रहे हैं. इसी सप्ताह खालिस्तान से जुड़े चार आतंकी की गिरफ्तारी भी हुई थी. 


Find Us on Facebook

Trending News