शिक्षकों के कपड़ों से हो रही परेशानी : किसी को कुर्ता पायजामा पसंद नहीं, कोई जींस पहनने पर लगा रहा है रोक

शिक्षकों के कपड़ों से हो रही परेशानी : किसी को कुर्ता पायजामा पसंद नहीं, कोई जींस पहनने पर लगा रहा है रोक

HAJIPUR : बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था कैसी है, यह बताने की जरुरत नहीं है। इन स्कूलों की शिक्षण व्यवस्था को बेहतर करने की जगह पिछले कुछ दिनों से कुछ जिलों में शिक्षकों के पहने जानेवाले कपड़ों पर आपत्ति जताने के मामले जरुर सामने आ रहे हैं। कुछ दिन पहले बिहार के एक जिले में जिलाधिकारी में एक बुजुर्ग शिक्षक को छात्रों के सामने सिर्फ इसलिए फटकार लगा दी क्योंकि वह स्कूल में कुर्ता पहनकर आए थे। अब शिक्षकों के पहनावे को लेकर हाजीपुर में भी एक आदेश जारी कर दिया है। जिसमें उन्होंने सभी शिक्षकों के जींस पहनकर स्कूल आने पर ही रोक लगा दी है। साथ ही कोई शिक्षक टी-शर्ट पहनकर भी स्कूल नहीं जा सकेगा।

हाजीपुर के नए जिला शिक्षा पदाधिकारी (डीईओ) वीरेंद्र नारायण ने आदेश जारी कर शिक्षकों को फार्मल पैंट एवं फुल या हाफ शर्ट में ही स्कूल में शिक्षण कार्य करने का निर्देश दिया है। डीईओ ने जिले के सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी तथा प्रारंभिक एवं माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को जारी आदेश में लिखा है कि आए दिन इंटरनेट मीडिया में विद्यालयों में पठन-पाठन की अवधि में शिक्षकों के कुर्ता-पायजामा, जींस-टी शर्ट पहन कर कक्षा संचालन करने से शिक्षकों की नकारात्मक छवि प्रदर्शित हो रही है।

चरित्र निर्माण का दिया हवाला

पत्र में जिला शिक्षा पदाधिकारी ने लिखा है कि समाज निर्माण एवं छात्र-छात्राओं के चरित्र निर्माण में शिक्षकों की अहम भूमिका होती है। शिक्षक न सिर्फ विद्यालय में बल्कि विद्यालय अवधि के बाद भी छात्र-छात्राओं के मार्गदर्शक की भूमिका में होते हैं। इसलिए विद्यालय अवधि में फार्मल पैंट, फुल या हाफ शर्ट में ही विद्यालय में पठन-पाठन का कार्य करें, ताकि उनकी सौम्यता एवं शिष्टता बच्चों के लिए भी अनुकरणीय बन सके।



Find Us on Facebook

Trending News