कोर्ट के लिपिक की हत्या के आरोप में फरार नौ अभियुक्तों की संपत्ति होगी कुर्क, पुलिस ने चस्पा किया पोस्टर

कोर्ट के लिपिक की हत्या के आरोप में फरार नौ अभियुक्तों की संपत्ति होगी कुर्क, पुलिस ने चस्पा किया पोस्टर

KATIHAR : कटिहार मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सिरसा चौक के समीप 7 अप्रैल की देर शाम कटिहार न्यायालय में अधिवक्ता लिपिक के पद पर कार्यरत शशि भूषण तिवारी की गाड़ी से कुचल कर हत्या कर दी गई थी। जिसको लेकर मुफस्सिल थाना पुलिस ने हत्या के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। शशि भूषण तिवारी के परिजनों ने 10 नामजद अभियुक्त बनाया था। इस मामले में पुलिस ने नामजद आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही थी। आज इसी कड़ी में कटिहार न्यायालय से इश्तेहार लेने के बाद मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कुशवाहा टोला स्थित फरार चल रहे नौ आरोपियों के घर कोर्ट के आदेश पर पोस्टर चस्पा कर दिया गया। अब तक 9 फरार आरोपियों के घर पर पोस्टर चस्पा करते हुए जल्द हाजिर नहीं होने पर आरोपियों के घर पर कोर्ट के आदेश से कुर्की जब्ती होगी।  पोस्टर चस्पा करने पहुंचे मुफस्सिल थाना प्रभारी रंजीत कुमार ने बताया कि पुलिस इस हत्याकांड से जुड़े आरोपियों के गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी भी कर रही है।

चाय पिलाने के बहाने बुलाकर की थी हत्या

हत्या की घटना बीते 7 अप्रैल की बताई जा रही है। बताया गया कि मामले शशि भूषण के भाई चंद्रभूषण तिवारी के साथ विकास सिंह का विवाद हो गया था। इस विवाद में दोनों की तरफ से हाथापाई भी हुई थी। बाद में इस विवाद को लेकर दो दिन बाद 31 मार्च को पंचायत बिठाई गई थी। जहां पंचायत के दौरान विवाद को बढ़ता देख शशि भूषण तिवारी अपने भाई को हाथ पकड़ कर घर लेकर पहुंच गए और बिना फैसले का पंचायत समाप्त हो गया। लेकिन विकास सिंह अंदर ही अंदर उस विवाद का बदला लेना चाह रहे थे। जिसे लेकर बुधवार कि शाम 4 बजे उन्हें जेकी तिवारी और सौरभ ठाकुर के द्वारा फोन किया गया था और उन्हें मिलने के लिए सिरसा चौक पेट्रोल पंप के समीप बुलाया था। जहां विकास सिंह अपने अन्य सहयोगी ललन गुप्ता, सुरेश सिंह, कालू मिश्रा, रमेश सिंह, जेकी गुप्ता, मन्नू यादव, दीपेश सिंह सहित अन्य लोग पहले से मौजूद थे। जहां जेकी तिवारी ने चाय पिलाया। 

पहले की थी पिटाई, फिर गाड़ी से कूचला

इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उनसे मारपीट करना शुरू कर दिया। इस दौरान कुछ लोगों के द्वारा से इन पर लोहे के सरिया से वार किया गया है। जिससे वे बुरी तरह घायल हो गए और किसी तरह अपनी जान बचाकर भाग रहे थे कि इसी दौरान विकास सिंह ने अपने चार चक्का वाहन से इसे कुचल डाला और भागते निकल गए। इस दौरान भाग रहे अपराधियों में से एक अपराधी मन्नू यादव जो बरमसिया का रहने वाला है। उसे लोगों ने दौड़कर टीवी सेंटर के पास पकड़ा और पुलिस को बुलाकर उनके हवाले कर दिया था। जिसके बाद से ही पुलिस मामले में सभी आरोपियों की तलाश में लगी हुई है। 

Find Us on Facebook

Trending News