पूर्व सीएम मांझी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से कहा- वे अपनी बड़बोली सांसद को समझाएं कि एससी-एसटी को अपमानित न करें

पूर्व सीएम मांझी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से कहा- वे अपनी बड़बोली सांसद को समझाएं कि एससी-एसटी को अपमानित न करें

पटना... मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहती हैं। वे बीते दिनों सीहोर में एक क्षत्रिय सम्मेलन में शिरकत कर रही थीं। इस दौरान उन्हाेंने अपने संबोधन हा कि  हमारे धर्म शास्त्रों में समाज की व्यवस्था के लिए 4 वर्ग तय किए गए हैं। क्षत्रिय को क्षत्रिय कह दो, बुरा नहीं लगता है। ब्राह्मण को ब्राह्मण कह दो, बुरा नहीं लगता। वैश्य को वैश्य कह दो, बुरा नहीं लगता लेकिन शूद्र को शूद्र कह दो, बुरा लग जाता है। कारण क्या है, क्योंकि नामसझी है, क्योंकि समझ नहीं पाते हैं। अब इस बयान को लेकर देश में उनकी फिर से एक बार फजीहत शुरू हो गई है। 

अब प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान को लेकर बिहार में एनडीए की घटक दल हम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आपत्ति दर्ज कराते हुए एक ट्वीट किया है और भाजपा को नसीहत दी है कि वे अपने सांसद को समझांए कि एससी-एसटी को अपमानित न करें।  

जीतन राम मांझ ने ट्वीट में कुछ इस तरह से कहा- 


बता दें कि भोपाल सांसद बनने के बाद लगातार प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने बयान को लेकर विवादों में बनी रहती हैं। इतना ही नहीं कई बार खुले मंचों से भी भाजपा की ओर से उन्हें भाषा पर संयमित रखने को कहा गया है, लेकिन वो अपने बयान को लेकर हमेशा सुर्खियों में बनी रहती हैं। इतना ही नहीं कई बार तो उन्हें सार्वजनिक तौर पर आम लोग भी फजीहत कर देते हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News