प्यार में लॉकडाउन बना रोड़ा तो प्रेमी से शादी करने के लिए बंगाल से सीधे बिहार पहुंच गई प्रेमिका , कर ली शादी

 प्यार में लॉकडाउन बना रोड़ा तो प्रेमी से शादी करने के लिए बंगाल से  सीधे बिहार पहुंच गई प्रेमिका , कर ली शादी

DESK:  इस लॉकडाउन में सारी गतिविधियां जहां एक तरफ थम गई है तो वही दूसरी तरफ दो हंसों के जोड़े भी एक दूसरे से नहीं मिल पा रहें  और शायद यही वजह है कि  पश्चिम बंगाल की रहने वाली  एक प्रेमिका  ने   बिहार पहुंचकर  में रहने वाले अपने प्रेमी से शादी रचा ली .दरअसल प्रेमिका  से  6 महीने तक नहीं मिल पाने से प्रेमी ने कहा बिहार आ जाओ. यहीं पर हम तुमसे शादी कर लेंगे.  इसके बाद  प्रेमिका अपने परिजनों के साथ अचानक बंगाल से बिहार पहुंच गई. वहीं, स्थानीय लोगों की मदद से प्रेमी के परिजन भी शादी के लिए राजी हो गए. परिजनों की सहमति से मंदिर में ही दोनों की शादी भी करा दी गई.

जानकारी के मुताबिक , पश्चिम बंगाल के हुबली जिला  अंतर्गत श्रीरामपुर थाना क्षेत्र निवासी संतोष गुप्ता की बेटी नेहा गुप्ता का बिहार के मुंगेर जिला अंतर्गत जमालपुर निवासी शिव कुमार चौधरी के बड़े बेटे धीरज चौधरी से पिछले सात सालों से प्रेम प्रसंग चल रहा था. दोनों ने साथ में जीने मरने की कसमें भी खा ली थीं पर लॉकडाउन की वजह और ट्रेन के बंद हो जाने से दोनों नहीं मिल पा रहे थे. 

प्रेमिका ने बताया कि प्रेमी धीरज कुमार कोलकाता में उसी के मोहल्ले स्थित अपने नानी घर में बिहार से आता- जाता था, जहां उन दोनों को  देखते ही देखते एक दूसरे से प्यार हो गया. फिर दोनों आपसी सहमति से प्रेम की राह में बहुत आगे निकल गए. अपने परिजनों के लाख विरोध के बाद भी दोनों ने एक- दूसरे से ही शादी करने की जिद्द पर रहे.परन्तु कोरोना इन दोनों प्रेमी युगल के मिलान में पिछले 6 माह से रोड़ा बना हुआ था.

वहीं, लॉकडाउन की वजह से ट्रेन के बंद हो जाने के कारण दोनों एक- दूसरे से मिल नहीं पा रहे थे.  इसके बाद  प्रेमी धीरज ने कहा की अगर वह बिहार स्थित जमालपुर आ जाए तो वह शादी कर लेगा. इसके बाद लड़के ने अपना पता उसे भेज दिया. ऐसे में लड़की ने कई बार बंगाल से भाग कर बिहार आने की कोशिश की पर हर बार परिजनों के द्वारा पकड़ी गई पर लड़की की उसके जिद्द के आगे परिजनों ने भी अपनी सहमति दिखाई. परिजनों ने लॉकडाउन में भी गाड़ी रिजर्व कर प्रेमिका- प्रेमी को बिना बताये उससे शादी  करने जमालपुर पहुंच गए. प्रेमिका के अचानक जमालपुर पहुंचाने से प्रेमी भी घबरा गया और शादी से इनकार करने लगा लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा समझाने के बाद लड़के और परिवार वालों ने शादी के लिए हामी भर दी. फिर, आपसी सहमति से दोनों के परिजनों ने नौलक्खा दुर्गा मंदिर स्थित शिव मंदिर में प्रेमी युगल की शादी कर दी. प्रेमी से पति बने धीरज ने कहा कि वह इस शादी से बहुत खुश है.

Find Us on Facebook

Trending News