अपने बड़े बेटे की नाराजगी दूर नहीं कर पाईं राबड़ी देवी, वापस लौट गई दिल्ली, जानिए क्या थी तेज की डिमांड

अपने बड़े बेटे की नाराजगी दूर नहीं कर पाईं राबड़ी देवी, वापस लौट गई दिल्ली, जानिए क्या थी तेज की डिमांड

PATNA : बिहार की पूर्व सीएम और सूबे के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार की मुखिया राबड़ी देवी वापस दिल्ली लौट गई हैं। बड़े बेटे की नाराजगी को दूर करने के लिए विशेष रूप से पटना आईं राबड़ी देवी की तमाम कोशिशें भी काम नहीं आई। बताया जा रहा है कि पार्टी से नाराज चल रहे तेज प्रताप ने उनसे मुलाकात के दौरान ऐसी डिमांड कर दी कि उसे राबड़ी देवी को पूरा कर पाना नामुमकिन था। जिसके बाद राबड़ी देवी निराश होकर वापस लौट गई।

तेज प्रताप ने मां के सामने यह रखी मांग

बताया जा रहा है कि तेज प्रताप ने अपनी मां से उन दो नेताओं को पार्टी में बड़े पद की जिम्मेदारी से मुक्त करने की मांग की थी, जिनको लेकर पिछले कई महीनों से वह खुलकर बोलते रहे हैं। माना जा रहा है कि उनका इशारा राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह और छोटे भाई तेजस्वी यादव के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव की तरफ था। पार्टी में इन दोनों नेताओं का कद कैसा है. यह किसी से छिपा हुआ नहीं है। ऐसे में बताया जा रहा है कि जब मां राबड़ी के सामने तेज प्रताप ने इन दोनों को हटाने की मांग रखी तो राबड़ी देवी के सामने मुश्किल उत्पन्न हो गई। एक बेटे की नाराजगी को दूर करने के लिए वह दूसरे बेटे के साथ अन्याय नहीं करना चाहती थीं, वहीं दूसरी तरफ पार्टी के पुराने साथी को भी अलग करने की मांग को पूरा कर पाने का भरोसा देना भी उनके लिए कठिन था। ऐसे में तेज की नाराजगी को दूर कर पाना राबड़ी देवी के लिए मुश्किल था।

अपने पिता के खिलाफ जाने का किया ऐलान

पार्टी और परिवार में महत्व नहीं मिलने से नाराज तेज प्रताप ने कुशेश्वरस्थान से कांग्रेस प्रत्याशी अतिरेक कुमार का समर्थन करने का ऐलान किया है। जबकि यहां राजद भी चुनावी मैदान में है और उनके समर्थन में लालू प्रसाद यादव भी प्रचार करने के लिए आनेवाले हैं। ऐसे में जानकारों का कहना है कि तेज अब अपने पिता के खिलाफ जाने को भी तैयार हैं। अब तक भाई-भाई की लड़ाई अब पिता-पुत्र की हो गई है।


Find Us on Facebook

Trending News