बीजेपी MLA की पत्नी से 'अध्यक्ष' की कुर्सी छीनने पर 'राधामोहन' को मिल रही लख-लख बधाईयां, RJD-कांग्रेस ने BJP सांसद को बताया भीष्म पितामह

बीजेपी MLA की पत्नी से 'अध्यक्ष' की कुर्सी छीनने पर 'राधामोहन' को मिल रही लख-लख बधाईयां, RJD-कांग्रेस ने BJP सांसद को बताया भीष्म पितामह

PATNA:  पूर्वीचंपारण में जिला परिषद अध्यक्ष का चुनाव काफी दिलचस्प रहा। इस बार अध्यक्ष की कुर्सी बीजेपी से छिन गई और महागठबंधन के पाले में चली गई। कांग्रेस नेता गप्पू राय की पत्नी ममता राय रिकार्ड अंतर से अध्यक्ष की कुर्सी हथिया ली। सबसे खास बात तो यह कि महागठबंधन की जीत पर बीजेपी सांसद को बधाई मिल रही। महागठबंधन के नेता पूर्वी चंपारण के भाजपा सांसद राधामोहन सिंह को बधाई देते नहीं थक रहे। राजद के एक पूर्व विधायक फैसल रहमान ने तो बजाप्ता मोतिहारी शहर में बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाकर राधामोहन सिंह को बधाई दी है। साथ हीं बीजेपी सांसद को पूर्वी चंपारण का किंगमेकर बताया है। जानकार बताते हैं कि बीजेपी विधायक को घेरने के लिए सत्ताधारी जमात ने दल की लक्ष्मण रेखा तोड़ दी थी। 

बीजेपी MLA की पत्नी से कुर्सी छीनने को लेकर गोलबंदी

दरअसल, 2106 में पूर्वी चंपारण जिला परिषद अध्यक्ष का चुनाव भाजपा विधायक पवन जायसवाल की पत्नी प्रियंका जायसवाल जीती थी। इस बार भी वो अध्यक्ष की दावेदार थीं लेकिन सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता एक प्लेटफार्म पर आ गये। सत्ता पक्ष के नेता पर्दे के पीछे से व महागठबंधन के नेता सामने से भाजपा विधायक पवन जायसवाल की रणनीति फेल करने में जुटे रहे। अंदर ही अंदर बीजेपी-जेडीयू समेत महागठबंधन के नेता इस बार बीजेपी विधायक पवन जायसवाल की पत्नी को किसी कीमत पर अध्यक्ष पद से बेदखल करने में जुगत में रहे। सबने महागठबंध के नेता गप्पू राय की पत्नी ममता राय को आगे कर दिया। 57 सदस्यों वाली पूर्वी चंपारण जिला परिषद के पार्षदों की गोलबंदी कर करीब 10 दिनों तक लखनऊ में रखा गया। आज जब अध्यक्ष पद का चुनाव हुआ तो अपने पाले में पार्षदों का समर्थन नहीं देख निवर्तमान अध्यक्ष प्रियंका जायसवाल उम्मीदवार नहीं बनी। अध्यक्ष के लिए ममता राय व नीतू गुप्ता ने नामांकन किया। चुनाव में ममता राय को 45 मत एवं नीतू गुप्ता को 10 मत प्राप्त हुए। इस तरह कांग्रेस नेता गप्पू राय की पत्नी ममता राय जिला परिषद अध्यक्ष चुन ली गईं। 

अपनों ने लूटा गैरों में कहां दम था???

महागठबंधन की तरफ से उतारे गये उम्मीदवार ममता राय क चुनाव जीतने के बाद जश्न का माहौल है। राजद की तरफ से शहर में बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगाये गये हैं। उस होर्डिंग्स पर स्थानीय भाजपा सांसद राधामोहन सिंह की तस्वीर लगाई गई है. साथ ही राधामोहन सिंह को लख-लख बधाईयां दी गई हैं। उन्हें चंपारण के भीष्ण पितामह की संज्ञा दी गई है। उस होर्डिंग्स में ढाका के पूर्व राजद विधायक फैसल रहमान की तस्वीर भी लगी है। जानकार बताते हैं कि इस बार सत्ताधारी दल के नेता व विपक्षी दल के नेता एकजुट हो गये थे। सभी बीजेपी के ढ़ाका से विधायक पवन जायसवाल को घेरने और पत्नी को किसी कीमत पर अध्यक्ष नहीं बनने देना चाहते थे। जब रणनीति सफल हो गई तो राजद नेताओं ने बीजेपी के ही मोतिहारी से सांसद राधामोहन सिंह को इसका श्रेय दिया है और उन्हें लख-लख बधाइयां दी हैं।  

Find Us on Facebook

Trending News