सीनियर लीडर रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन, दिल्ली AIIMS में ली अंतिम सांस

सीनियर लीडर रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन, दिल्ली AIIMS में ली अंतिम सांस

पटना : दिल्ली से अभी बड़ी खबर आ रही है. सीनियर लीडर रघुवंश प्रसाद का निधन हो गया है. रघुवंश प्रसाद फेफड़े में संक्रमण को लेकर दिल्ली एम्स में भर्ती थे. लेकिन हालत खराब होने के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह को वेंटिलेटर पर रखा गया था. रघुवंश प्रसाद सिंह पिछले 4 अगस्त से ही दिल्ली के एम्स में इलाजरत थे और वह पिछले 4 दिनों से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर चल रहे थे.

सांस लेने में हो रही थी दिक्कत
उनको सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी. दिल्ली के एम्स में इलाजरत रघुवंश बाबू की निगरानी  4 डॉक्टर अभी ICU में कर रहे थे. रघुवंश बाबू के परिवारवालों ने बताया था कि वो अभी भी वेंटिलेटर पर ही हैं और उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है. उनके साथ-साथ उनके दोनों बेटे भी AIIMS में ही थे. मालूम हो कि रघुवंश प्रसाद सिंह का इलाज 4 अगस्त से ही दिल्ली स्थित एम्स में चल रहा था और वो पिछले चार दिनों से वेंटिलेटर पर थे. 


लेकिन आज सुबह कद्दावर नेता रघुवंश प्रसाद का निधन हो गया. इससे पहले रघुवंश प्रसाद सिंह कोरोना से संक्रमित हो गया थे जिसके बाद उन्हें पटना एम्स में भर्ती करवाया गया था. कोरोना से जंग जितने के बाद रघुवंश सिंह को फेफड़े में संक्रमण की शिकायत हुई जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया था. लेकिन आज रघुवंश प्रसाद ने दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस ली. रघुवंश प्रसाद के निधन के बाद बिहार की सियासत में शौक की लहर फैल गई है. जदयू सांसद ललन सिंह ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि रघुवंश बाबू के निधन से जो राजनीति में जो क्षति हुई है उसे पूरा नहीं किया जा सकता. जेडीयू सांसद ललन सिंह ने कहा कि वो एक सच्चे बिहारी थे. 

रघुवंश प्रसाद ने हाल ही में राजद से इस्तीफा दिया था. रघुवंश प्रसाद सिंह लगातार पार्टी से खफा चल रहे थे और और दिल्ली के एम्स से ही लालू यादव के नाम अपना इस्तीफानामा लिख दिया था. जिसके बाद सियासत गरमा गई थी. लालू यादव ने रघुवंश प्रसाद को मानने के लिए चिट्ठी लिखी थी और कहा था आप कहीं नहीं जा रहे हैं.लेकिन उसके बाद भी रघुवंश प्रसाद लगातार बिना राजद का नाम लिए पार्टी के अंदर चल रही गतिविधियों के खिलाफ चिट्ठी लिख रहे थे.

Find Us on Facebook

Trending News