रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे से सदमें में RJD, पार्टी नेताओं को रघुवंश प्रकरण पर बोलने से किया गया मना....

रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे से सदमें में RJD, पार्टी नेताओं को रघुवंश प्रकरण पर बोलने से किया गया मना....

पटना : राजद के वरिष्ठतम नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने आखिरकार पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. रघुवंश बाबू ने सादे कागज पर अपना दर्द लालू यादव के सामने बयां करते हुए पार्टी को बाय- बाय कर दिया.उन्होंने पार्टी से इस्तीफे के लिए  पैड का इस्तेमाल नहीं करते हुए सादे कागज पर ही अपने हाथों से इस्तीफा लिखा. रघुवंश प्रसाद ने लिखा है कि वो राजद में 32 साल तक रहें. इस दौरान उन्हें पार्टी में बहुत प्यार मिला लेकिन अब साथ देना संभव नहीं है. 

रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे की खबर से पूरा लालू परिवार और राजद की बोलती बंद हो गई है।यूं कहें कि राजद गहरे सदमें में चली गई है। पार्टी का कोई भी नेता रघउवंश प्रकरण पर साफ-साफ बोलने से कतरा रहे।जानकार बताते हैं कि नेतृत्व की तरफ से सभी नेताओं को रघुवंश प्रकरण पर बोलने से मना कर दिया गया है।लिहाजा सभी नेताओं ने चुप्पी साध ली है।राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह तो पूरी तरह से अपने चैंबर में कैद हो गए हैं।वे इस प्रकरण का नाम सुनना भी पसंद नहीं कर रहे। न्यूज4नेशन ने जब राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी से सवाल किया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि हमें रघुवंश बाबू के स्वास्थ्य की चिंता है।

बता दें कि रघुवंश प्रसाद काफी वक्त से पार्टी से नाराज चल रहे थे.लोजपा के पूर्व सांसद रामा सिंह की पार्टी में लेने की खभर सुन रघुवंश सिंह गुस्से में लाल हो गये थे  और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया था.उन्होंने तब भी कहा था कि अगर नेतृत्व नहीं संभला तो पार्टी से भी इस्तीफा दे देंगे।हालां कि तेजस्वी यादव की तरफ से रघुवंश सिंह को मनाने की पूरी कोशिश की गई लेकिन बात नहीं बन सकी। 

Find Us on Facebook

Trending News