राहुल गांधी का केंद्र पर बड़ा हमला, पूछा – गैस, डीजल, पेट्रोल से मोदी सरकार ने 23 लाख करोड़ कमाए, कहां गया पैसा ?

राहुल गांधी का केंद्र पर बड़ा हमला, पूछा – गैस, डीजल, पेट्रोल से मोदी सरकार ने 23 लाख करोड़ कमाए, कहां गया पैसा ?

NEW DELHI : राहुल गाँधी ने मोदी सरकार पर जोरदार हमला किया है, उन्होंने कहा पेट्रोल की कीमतों में इजाफा करने से आम लोगों को सीधे नुक्सान होता है> जनता की जेब पर असर पड़ता है और ट्रांसपोर्ट बढ़ने से महंगाई बढती है. आपको बता दें की कांग्रेस सांसद राहुल गाँधी ने आयोजित पीसी में कहा की –‘आज मैं महंगाई, पेट्रोल, डीजल और गैस को लेकर देश की जनता से बात करना चाहता हूं. जीडीपी का मतलब क्या. जीडीपी का मतलब है गैस, डीजल और पेट्रोल.’ 

उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि – ‘एनडीए सरकार ने गैस, डीजल और पेट्रोल यानी GDP से 23 लाख करोड़ रुपये कमाए. वो पैसा कहां गया. आपके जेब मे पैसा नहीं जा रहा है.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा की डिमोटाइजेशन और मोनेटाइजेशन दोनों एक साथ हो रहा है. नरेंद्र मोदी के चार-पांच मित्रों का मोनेटाइजेशन हो रहा है. मोदी जी ने पहले कहा था कि डिमोनटाइजेशन कर रहा हूं और वित्त मंत्री कहती हैं की मैं मोनेटाइजेशन कर रही हूं. किसानों, मज़दूरों, छोटे दुकानदार, एमएसएमई, सैलरीड क्लास, सरकारी कर्मचारियों और इमानदार उद्योगपतियों का डीमोनटाइजेशन हो रहा है।

हमारे समय में 105 डॉलर थी प्रति बैरल क्रूड ऑयल की कीमत, अभी 71 डॉलर

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने बुधवार को कहा कि ईंधन की कीमतों में जब भी इजाफे की बात कही जाती है तो कह दिया जाता है कि अंतरराष्ट्रीय कीमतों में इजाफा हो रहा है। यह बात गलत है। हमारी सरकार थी, तब क्रूड ऑयल की कीमत 105 डॉलर प्रति बैरल था और अब यह 71 डॉलर प्रति बैरल है। उन्होंने आगे कहा कि देश के सामने 1991 जैसा ही संकट पैदा हो रहा है।  

सात साल में 116 फीसदी बढ़े पेट्रोल के दाम

कांग्रेस सांसद राहुल गाँधी ने महंगाई के मुद्दे पर भी नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा की 2014 में जब यूपीए ने ऑफिस छोड़ा था तब सिलिंडर का दाम 410 रुपये था और आज सिलेंडर का दाम 885 रुपये हो गया है. सिलेंडर के दाम में 116% की बढ़ोतरी हुई है. पेट्रोल की कीमत में 2014 से 42% और डीजल की कीमत में 55% की अब तक बढ़ोतरी हुई है। 

नहीं समझ में आ रहा हम देते हैं एक्सपर्ट

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री पर तीखा हमला करते हुए कहा कि अगर उन्हें कुछ समझ में नहीं आ रहा है तो वह अपने एक्सपर्ट्स को भेज देंगे। राहुल गांधी ने कहा कि शेयर बाजार में तेजी से उछाल देखने को मिल रहा है, लेकिन यह 50 कंपनियों का ही तमाशा है। देश की 300 से 400 प्रमुख कंपनियों की हालत खराब हो रही है। वही देश का भविष्य हैं, लेकिन उनकी हालत खराब हो रही है। देश को रोजगार मध्यम श्रेणी की इंडस्ट्री देती है, लेकिन मोदी जी के दिमाग में उनके लिए कोई जगह ही नहीं है। 

Find Us on Facebook

Trending News