भ्रष्ट उप निदेशक के ठिकानों पर छापा, बैंकों के 40 खाता मिले, पटना से लेकर दिल्ली में फ्लैट-प्लॉट, जानिए और क्या-क्या मिला...

भ्रष्ट उप निदेशक के ठिकानों पर छापा, बैंकों के 40 खाता मिले, पटना से लेकर दिल्ली में फ्लैट-प्लॉट, जानिए और क्या-क्या मिला...

PATNA : आर्थिक अपराध इकाई ने आज शिक्षा विभाग के उप निदेशक विभा कुमारी के तीन ठिकानों पर छापेमारी की थी। आय से अधिक संपत्ति मामले में आर्थिक अपराध इकाई ने केस दर्ज किया, इसके बाद पटना के सगुना मोड़ स्थित वसी कुंज कॉन्प्लेक्स स्थित फ्लैट, विभा कुमारी के वैशाली स्थित ससुराल और उच्च शिक्षा उपनिदेशक कार्यालय विकास भवन में तलाशी ली गई।


आर्थिक अपराध इकाई की छापेमारी में पता चला है कि ये 1993 में सरकारी सेवा में आए हैं। इनका आचरण एवं कार्य संदिग्ध और विवादास्पद रहा है। इन पर अनेक आरोप लगते रहे हैं। इन्होंने अपने पद का भ्रष्ट दुरुपयोग कर स्वयं, पति तथा पुत्र के नाम पर रोहिणी दिल्ली में डीडीए के 3 प्लॉट, पटना में आवासीय फ्लैट, मुजफ्फरपुर एवं ससुराल में कुल 4 आवासीय भूखंड अर्जित किया है। रजिस्ट्री डीड में भी वास्तविक  राशि से कम राशि दिखाकर अवैध संपत्ति छुपाने का प्रयास किया।

यह भी जानकारी मिली है कि विभा कुमारी ने पति के माध्यम से काफी बड़ी राशि का निवेश शेयर, स्टॉक, म्युचुअल फंड, बैंक फिक्स डिपाजिट एवं अन्य बीमा कंपनियों में किया है। इनके पति अपनी पत्नी पर ही आश्रित रहे हैं।उनका  आय का कोई प्रत्यक्ष स्रोत नहीं था। विभा कुमारी द्वारा अवैध अर्जित संपत्ति के लिए पति के नाम पर इनोवा, स्कॉर्पियो मारुति, स्विफ्ट डिजायर की खरीद कर भाड़ा चलाना प्रारंभ किया। तीन-चार सालों से पति के माध्यम से लग्जरी कैब नाम की ट्रैवल एजेंसी चलवा रही हैं। जिस का संचालन सगुना मोर स्थित फ्लैट से होता है। जांच में यह भी बात उभर कर आई है कि विभा कुमारी ने अवैध रूप से अर्जित धन से अपने पति के मुंशी के नाम पर एक स्कॉर्पियो गाड़ी खरीदी है।

छापेमारी में भारतीय स्टेट बैंक के 18 बैंक खाता, जिसमें 1880750 रु के फिक्स डिपॉजिट के कागजात मिले हैं। इसके अलावे आईसीआईसी बैंक में 14 बचत एवं फिक्स डिपाजिट खाता, जिसमें 11 लाख जमा है। सेंट्रल बैंक में दो खाता, इंडियन बैंक में एक, पटना के केनरा बैंक में 1 तथा दिल्ली केनरा बैंक में एक बैंक खाता का पता चला है। उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक में चार बचत खाता एवं 2000000 रुपए का फिक्स डिपाजिट के कागजात मिले हैं। साथ ही 1 लाख 39000 नगद बरामद हुआ है । जांच आय से ₹1.8823900 कि अधिक संपत्ति पाई गई जो वैध स्रोत से लगभग 52 फ़ीसदी अधिक है।

विवेकानंद की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News