रेल ठहराव को लेकर छह मार्च को होगा चक्का जाम

रेल ठहराव को लेकर छह मार्च को होगा चक्का जाम

लक्खीसराय: बड़हिया रेल ठहराव की गंभीर समस्या से जूझ रहे बड़हिया के छोटे बड़े दुकानदारों, व्यापारियों और रेलवे के परिचालन पर आश्रित मजदूर एवं प्रभावित बड़े वर्गों के बीच समन्वय बनाते हुए किसान मजदूर मध्यम व्यवसायी संघ का गठन किया गया। प्रेस वार्ता के दौरान इसकी जानकारी देते हुए संघ के संयोजक हरिवंश राम, संजीव कुमार और मनोरंजन कुमार ने कहा कि जन प्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक पदाधिकारीयों के उदासीनता के बीच प्रखंड क्षेत्र के लोग घुट घुट कर मरने को मजबूर हैं। 

उच्च और मध्यम वर्ग के लोग जहां हजारों खर्च कर सड़क मार्ग द्वारा इलाज, व्यवसाय एवं अन्य कार्यालय कार्य से जुड़ पा रहे हैं तो वहीं निम्न और मजदूर वर्ग के लोग चाहकर भी पर्याप्त रेल सुविधा के आभाव में घुटने को मजबूर हैं। किसान नेता संजीव कुमार ने कहा कि खेतों में लगा दलहन फसल लगभग पक कर तैयार है। फसल की कटाई के लिए पड़ोसी राज्य से आने वाले मजदूरों का पहुंच पाना जटिल समस्या प्रतीत हो रहा है। क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों में शामिल सांसद हों या विधायक ऐसा प्रतीत हो रहा जैसे उन्हें इन समस्याओ से कोई लेना देना ही नहीं है। 

आम जनताओं के दुख दर्द में भागीदार नहीं बनने वाले जन प्रतिनिधि का क्षेत्र में उपस्थित होने का क्या औचित्य? सारे परिस्थितियों के फलीभूत संघ के द्वारा सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि आगामी पांच मार्च तक पूर्व से रुकने वाले सभी ट्रेनों का ठहराव पूर्ववत उपलब्ध नहीं कराया जा सका तो छह जनवरी को रेल का चक्का जाम किया जाएगा। आंदोलन के अंतर्गत बाजार बंद और रेल व सड़क मार्ग का चक्का जाम करने जैसी नौबत की जिम्मेवार रेल व जिला प्रशासन होगी। हरिवंश राम ने कहा कि जन प्रतिनिधियों की बातें अगर रेल मंत्री द्वारा नहीं मानी जा रही।

 तो वे भी आंदोलन का हिस्सा बनकर आम जनों के दुख दर्द का हिस्सा बन सकते हैं। संघ इसका स्वागत करेगा। मनोरंजन कुमार ने कहा कि छह दिनों तक अन्न को त्याग कर गांधीवादी तरीके से आग्रह आंदोलन किया गया। जिसका कोई नतीजा नहीं निकल सका। मरता क्या न करता! बाजार के सभी दुकानदार परेशान हैं। अब पूर्व के आंदोलन के विपरीत उग्र आंदोलन होगा। मौके पर मौजूद कांग्रेस नेता अमरेश कुमार अनीश ने कहा कि संघ अंतर्गत संयोजक द्वारा लिए गए निर्णय के साथ मैं हर परिस्थिति में साथ खड़ा रहूंगा। इस दौरान श्याम सिंह, अमित कुमार, रामस्वारथ सिंह, अमित शंकर, श्वेतकमल कुमार, दिवाकर कुमार उर्फ छोटे, शांडिल्य सिंह आदि मौजूद रहे।


Find Us on Facebook

Trending News