पाटलिपुत्र लोकसभा चुनाव: एनडीए और महागठबंधन की लड़ाई में तीसरा कोण बना रहे राजेश सिंह

पाटलिपुत्र लोकसभा चुनाव: एनडीए और महागठबंधन की लड़ाई में तीसरा कोण बना रहे राजेश सिंह

PATNA :  पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र की लड़ाई दिलचस्प हो चली है। पाटलिपुत्र लोकसभा सीट पर एनडीए उम्मीदवार रामकृपाल यादव और महागठबंधन के मीसा भारती के बीच मुकाबला माना जा रहा था लेकिन अब राजेश सिंह ने मैदान में उतर कर इसे दिलचस्प बना दिया है।राजेश सिंह के आने से पाटलीपुत्र लोकसभा चुनाव त्रिकोणीय बन गया है।

पाटलिपुत्र से निर्दलीय उम्मीदवार राजेश सिंह ने क्षेत्र मे तूफानी दौरा शुरु कर दिया है। राजेश सिंह लगातार पाटलिपुत्र में जनसंपर्क अभियान चला रहे हैं। भाजपा द्वारा भूमिहारों की उपेक्षा का सवाल वह लगातार उठा रहे हैं। 

कौन हैं राजेश सिंह

राजेश सिंह के बारे में बताया जाता हैं बिहार के युवाओं में खास पकड़ हैं। पटना जिला का ग्रामीण क्षेत्र इनका कार्य स्थल रहा हैं। बता दें कि पहले राजेश सिंह भाजपा से जुड़े हुए थे और प्रदेश कार्य समिति के सदस्य सहित कई मोर्चा के पदाधिकारी रहे हैं। लेकिन बाद में भाजपा के संगठन महामंत्री नागेंद्र जी और प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय से विवाद के बाद  इन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। 

राजेश सिंह ने कहा कि जिस समाज ने भाजपा को खड़ा करने के लिए लाठी खाई आज उसे ही दरकिनार कर दिया गया। उन्होंने कहा कि भूमिहार समाज इस चुनाव में अपने अपमान का बदला लेगा। राजेश सिंह ने कहा कि वे समाज की मान सम्मान की लड़ाई लड़ रहे हैं। पाटलिपुत्र की जनता उन्हें विजयी बनाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News