राज्यसभा में बोले राजनाथ सिंह, चीन की कथनी करनी में फर्क, हमारे जवानों को पहुंचाई भारी क्षति

राज्यसभा में बोले राजनाथ सिंह, चीन की कथनी करनी में फर्क, हमारे जवानों को पहुंचाई भारी क्षति

Desk: संसद के मॉनसून सत्र का आज चौथा दिन है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राज्यसभा में बयान दे रहे हैं. LAC पर चीन के साथ जारी तनाव पर राजनाथ सिंह बयान दे रहे हैं. रक्षा मंत्री ने इससे पहले मंगलवार को लोकसभा में बयान दिया था. 

अपने संबोधन में रक्षा मंत्री ने चीन पर निशाना साधा. राजनाथ सिंह ने कहा कि चीन की LAC में बदलाव की मंशा है, हालांकि हमारे जवानों ने उसकी मंशा को पहले ही भांप लिया. रक्षा मंत्री ने ये भी कहा भारतीय सैनिक हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सेनाएं सीमा पर मजबूती के साथ डटी हुई हैं. मैं सदन को आश्वस्त करना चाहता हूं मैं इस मुद्दे पर ज्यादा विस्तार से नहीं बोलना चाहता हूं और इस संवेदनशीलता को सदन समझेगा. राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की तरफ से पहले सैन्य कार्रवाई नहीं की गई, जबकि चीन की तरफ से की गई है, लेकिन हमने उनके इरादों को कामयाब नहीं होने दिया. राजनाथ सिंह ने कहा कि हम इस मुद्दे को शांतिपूर्वक ढंग से सुलझाना चाहते हैं और हम चाहते हैं कि चीनी पक्ष हमारे साथ मिलकर काम करें. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि चीन ने पिछले कई दशकों में सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी तैनाती क्षमताओं को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा निर्माण गतिविधि की. हमारे सरकार ने भी सीमावर्ती बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बजट को पिछले स्तरों से लगभग दोगुना कर दिया है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि शांति बहाल करने के लिए कई समझौते किए गए. चीन औपचारिक सीमाओं को नहीं मानता. उसकी कथनी और करनी में फर्क है. हमारे जवानों ने चीन को भारी क्षति पहुंचाई है. चीन ने एलआईसी की यथास्थिति को बदलने की कोशिश की.

Find Us on Facebook

Trending News