भाजपा नेत्री ने कांग्रेस विधायक पर रंगदारी मांगने का लगाया आरोप, निष्पक्ष जांच की मांग

भाजपा नेत्री ने कांग्रेस विधायक पर रंगदारी मांगने का लगाया आरोप, निष्पक्ष जांच की मांग

DHANBAD : बीजेपी नेत्री रागिनी सिंह ने विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाया है. रागिनी सिंह का कहना है कि बीसीसीएल के कार्य पर विधायक ने रोक लगाई है. वहीं इस मामले में पूर्णिमा  नीरज सिंह का कहना है कि चंदमारी मांझी बस्ती में आदिवासियों की जमीन पर अवैध उत्खनन कार्य चल रहा था.

रागिनी सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ता में आने के बाद झरिया में हर दिन रंगदारी मांगने का सिलसिला जारी है. सत्ता का दुरुपयोग किया जा रहा है. बेवजह लोगों को परेशान किया जा रहा है. पूर्णिमा सिंह और हर्ष सिंह के द्वारा रंगदारी की मांग की जा रही है. रंगदारी नहीं देने पर आउटसोर्सिंग नहीं चलने देने की बात कही जा रही है. उन्होंने कहा कि प्रशासन पर हमें भरोसा है. प्रशासन निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई करें. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि वह विधायक पूर्णिमा ने सदन में कोई सवाल नहीं उठाया हैं. 

वह पहले की फोटो पर जनता और सरकार दोनों को गुमराह करने का काम कर रही है. फर्जी बातें पूर्णिमा सिंह के द्वारा कही जा रही हैं. हर्ष सिंह के सिखाए पर वह सारा कार्य करती हैं. बता दें कि चंदमारी मांझी बस्ती आदिवासी परिवारों की बंदोबस्ती जमीन पर बीसीसीएल द्वारा उत्खनन किए जाने का मामला झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह के द्वारा झारखंड विधानसभा में उठाया गया था. झरिया अंचल कार्यालय से सरकार को इस संबंध में दो रिपोर्ट सौंपी गई थी. दोनों ही रिपोर्ट एक-दूसरे से अलग हैं, जिस पर विधायक ने आपत्ति जताते हुए रिपोर्ट तैयार करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग डीसी से की है. डीसी ने जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है.

वही आपको बता दे कि झरिया के कांग्रेस विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह हैं तो वही रागनी सिंह भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ी थी और हार गई थी. पूर्व में उनके पति संजीव सिंह झरिया से विधायक थे. फिलहाल झरिया के वतर्मान विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह के पति के हत्या के मामले में जेल में बंद है. 

धनबाद से अजय उपाध्याय की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News