सरकारी बैंकों की संख्या कम करना, मोदी सरकार की हिटलरशाही- वीआईपी

सरकारी बैंकों की संख्या कम करना, मोदी सरकार की हिटलरशाही- वीआईपी

पटना. विकासशील इंसान पार्टी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। एक अखबार की रिपोर्ट का हवाला देते हुए वीआईपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता देव ज्योति ने कहा कि केन्द्र सरकार हिटलरशाही पर उतर गई है। दरअसल एक रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार कई सरकारी बैंकों के निजीकरण की तैयारी में है। जिसे लेकर वीआईपी ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई है।

देव ज्योति ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या पहले ही 27 से घटकर 12 हो गई है। सरकार इसमें और कमी करना चाहती है। जबकि आरबीआई के अनुसार ऐसा करना घातक हो सकता है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसी की बात नहीं सुनती है। नोटबन्दी के वक्त भी आरबीआई ने इसी प्रकार की चेतावनी दी थी।

देव ज्योति ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पहले भी देश की कई प्रमुख बैंको को मर्ज किया जा चुका है। इसी क्रम में कुछ और बैंको को एकसाथ करने की तैयारी की जा रही है। देव ज्योति ने यह भी कहा कि अगर केन्द्र सरकार इस प्रकार का फैसला लेती है तो उनकी पार्टी इसका हर स्तर पर विरोध करेगी।


Find Us on Facebook

Trending News