RERA का शिकंजाः 'पल्लवी राज' कंस्ट्रक्शन का एक भी प्रोजेक्ट 'निबंधित' नहीं और ग्राहकों से ले लिये 6 करोड़ रू,ऑडिटर तलब

RERA का शिकंजाः 'पल्लवी राज' कंस्ट्रक्शन का एक भी प्रोजेक्ट 'निबंधित' नहीं और ग्राहकों से ले लिये 6 करोड़ रू,ऑडिटर तलब

PATNA: पटना की कंस्ट्रक्शन कंपनी पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन पूरी तरह से रेरा के चंगुल में फंसती जा रही है। रेरा ने पहले नोटिस जारी कर लोगों को आगाह किया कि पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन कंपनी का एक भी प्रोजेक्ट वर्तमान में निबंधित नहीं है। ऐसे में ग्राहक अपने विवेक के अनुसार निर्णय लें। इसके बाद रेरा ने शिकंजा कसते हुए पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन कंपनी के ऑडिटर को तलब किया है। रेरा ने पाया है कि इस कंपनी ने ग्राहकों से गैरनिबंधित प्रोजेक्ट के नाम पर 6 करोड़ 13 लाख रू लिये हैं जो पूरी तरह से गलत है। 

एक भी प्रोजेक्ट निबंधित नहीं और ग्राहकों से ले लिये 6 करोड़ रू

 रेरा ने 8 जुलाई को की सुनवाई में रियल एस्टेट कंपनी पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के ऑडिटर को तलब किया है. यह पहली बार है जब रेरा ने किसी कंपनी के ऑडिटर को तलब किया है. रेरा ने अब तक की जांच में यह पाया है कि बिना रजिस्ट्रेशन कराए ही कंपनी ने ग्राहकों से करोड़ों रुपए की वसूली की. साथ ही कंपनी के हिसाब किताब में फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया.  रेरा के वरिष्ठ सदस्य आरबी सिन्हा ने पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन के गोवा सिटी प्रोजेक्ट को लेकर यह आदेश दिया है.  रेरा के अनुसार पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन का एक भी प्रोजेक्ट रजिस्टर्ड नहीं है. ऐसे में उसे ग्राहकों से ₹1 भी लेने का अधिकार नहीं है . इसके बावजूद कंपनी ने छह करोड़ 13 लाख से अधिक रुपए ग्राहकों से लिये जो पूरी तरीके से अवैध है . इस मामले की अगली सुनवाई 27 जुलाई को होगी. 

रेरा में निबंधन हर हाल में जरूरी

रेरा ने 30 जून को नोटिस जारी कर कहा है कि भू संपदा अधिनियम की धारा 3(1) के अनुसार कोई प्रवर्तक इस अधिनियम के अधीन विनियामक प्राधिकरण में परियोजना का निबंधन कराए कोई काम नहीं कर सकता। किसी योजना क्षेत्र में भू संपदा परियोजना या इससे किसी भाग में कोई भूखंड, अपार्टमेंट या भवन खरीदने के लिए लोगों को आमंत्रित, विज्ञापित, विपणन,क्रय-विक्रय नहीं करेगा.

पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन कंपनी का तीनो प्रोजेक्ट गैर निबंधित

रेरा  3द जून को जारी किये नोटिस में सभी को सूचित किया कि भू-संपदा अधिनियम के अंतर्गत गठित भू संपदा विनियामक प्राधिकरण (रेरा बिहार) द्वारा निबंधन के बगैर प्रमोटरों द्वारा भूखंड या अपार्टमेंट के संबंध में विज्ञापन निकालने, बुकिंग करने एवं विक्रय पर प्रतिबंध है.  पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन लिमिटेड द्वारा तीन प्रोजेक्ट मुंबई रेजिडेंसी, बॉलीवुड रेजिडेंसी और गोवा सिटी के निबंधन के लिए रेरा में दायर आवेदन पत्र पर जांच की गई.  जांच में कई त्रुटियां पाई गई जिसकी सूचना समय-समय पर उन्हें भेजी गई थी. इस मामले में पिछली सुनवाई 28 जून 2021 को हुई, जिसमें पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन लिमिटेड ने मुंबई रेजेिडेंसी प्रोजेक्ट के आवेदन को वापस लेने की बात कही.साथ ही अन्य दो मामलों में वांछित कागजात जमा करने के लिए 2 दिनों का समय मांगा.  पल्लवी राज कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा प्रस्तावित प्रोजेक्ट के निबंधन पर अभी रेरा ने अंतिम निर्णय नहीं लिया है. यह सूचना ग्राहकों के हित में जारी की जा रही है. ताकि वे सभी तथ्यों को जाने और ग्राहक अपने विवेक के अनुसार उचित निर्णय ले सकें.

Find Us on Facebook

Trending News