आक्रोश : सीताकुंड को रामायण सर्किट से नहीं जोड़ने पर गयावासियों में नाराजगी

आक्रोश : सीताकुंड को रामायण सर्किट से नहीं जोड़ने पर गयावासियों में नाराजगी

GAYA : अब गया को भी रामायण सर्किट से जोड़ने की मांग तेज होने लगी है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य प्रो०विजय कुमार मिट्ठू ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार की ओर से हमेशा गया की अनदेखी की जाती है. 

उन्होंने कहा की केंद्रीय पर्यटन मंत्री ने 9 जुलाई को राज्यसभा में देश के 9 राज्यों के 15 स्थानों को, जो भगवान राम, सीता और रामायण से जुड़े मंदिर व धर्म स्थल हैं. उनको रामायण सर्किट के तहत विकसित करने की घोषणा की है. बिहार राज्य में सीतामढ़ी, बक्सर और दरभंगा को जोड़ा गया है.

 प्रो०विजय कुमार ने कहा गया के सीता कुंड मंदिर को देश के रामायण सर्किट थीम में जोड़ने और विकसित कराने की मांग की है. विश्व पर्यटन मानचित्र पर स्थान रखने वाला बिहार के गया सीता कुंड मंदिर को नहीं जोड़ने से गया वासियों में भयानक आक्रोश है. 

उन्होंने कहा की बिहार झारखंड के विभाजन के बाद बिहार के विकास के लिए बने आर्थिक पैकेज की ज्ञापन में रामायण सर्किट के तर्ज पर विकास होने वाले स्थानों में सीतामढ़ी गया, बक्सर, दरभंगा चारों स्थान शामिल था.लेकिन जब योजना बनाई जाने लगी तो गया को छोड़ दिया गया. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News