रघुवंश सिंह के समर्थन में उतरे 'सिद्दिकी', रघुवंश बाबू और हमारे जैसे नेताओं की मंशा पर सवाल नहीं...इगो छोड़ें समाजवादी

रघुवंश सिंह के समर्थन में उतरे 'सिद्दिकी', रघुवंश बाबू और हमारे जैसे नेताओं की मंशा पर सवाल नहीं...इगो छोड़ें समाजवादी

PATNA: राजद के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दकी का दर्द अचानक छलक गया है।उन्होंन सोशल मीडिया के माध्यम से अपना दर्द साझा किया है।उन्होंने कहा है कि मेरे और रघुवंश बाबू जैसे लोगों की मंशा पर सवाल नहीं होना चाहिए।उनका यह बयान उस समय आया है जब अभी दो दिन पहले हीं रघुवंश प्रसाद सिंह ने यह कहकर सबको चौंका दिया था कि जेडीयी-राजद में एक बार फिर से दोस्ती होने वाली है।रघुवंश बाबू के इस बयान के बाद खलबली मच गई थी।उसके बाद उन्हें राबड़ी आवास जाना पड़ा था।

जानकारी के अनुसार राबड़ी आवास में तेजस्वी यादव से मुलाकात के बाद रघुवंश बाबू ने यूटर्न ले लिया और पहले वाले बयान से पलटी मार गए।तेजस्वी यादव से मुलाकात के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार जब बीजेपी छोड़ेंगे उसके बाद हीं कोई फैसला होगा।उसके तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार और राजद की दोस्ती होने की खबर को खारिज कर दिया था।

उसके बाद अब नीतीश कुमार से सहानुभूति रखने वाले राजद के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दकी ने अचानक अपने फेसबुक पेज पर दर्द भरी दास्तां बयां किया है। उन्होंने लिखा है कि कि मेरे और रघुवंश बाबू जैसे नेताओं की मंशा पर सवाल नहीं उठाना चाहिए।उन्होंने कहा है कि  ...आगामी विधानसभा चुनावों में बीजेपी को हराने के लिए तमाम समाजवादियों को ईगो छोड़ना होगा। रघुवंश बाबू और हमारे जैसे नेताओं के मंशा पर सवाल नहीं होना चाहिए। फिलहाल तो अभी महागठबंधन जारी है। इसके अलावे जो लोग भी बीजेपी से परेशान हैं, उनको पहल करना चाहिए।

अपने तीन लाईन के इस बयान में सिद्दकी ने सबकुछ कह दिया है।उन्होंने मैसेज दे दिया है कि जो लोग भी बीजेपी से परेशान हैं उनको पहल करनी चाहिए।वरना बीजेपी को रोकना असंभव है।

Find Us on Facebook

Trending News