रामकृपाल से सहानुभूति रखते हैं राजद MLA भाई वीरेंद्र! मंत्री नही बनाये जाने पर बोले-नो कमेंट्स

रामकृपाल से सहानुभूति रखते हैं राजद MLA भाई वीरेंद्र!  मंत्री नही बनाये जाने पर बोले-नो कमेंट्स

PATNA : एनडीए की ऩई सरकार का गठन हो गया है। मोदी के नेतृत्व में दोबारा बनी सरकार में एनडीए की मुख्य घटक जेडीयू शामिल नहीं हुआ है। जेडीयू ने सरकार के बाहर से समर्थन देने का फैसला किया है। वहीं बिहार कोटे से इसबार बीजेपी के कई पुराने चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई है। 

इधर जेडीयू के सरकार में शामिल नहीं होने और बिहार बीजेपी के पुराने चेहरों को मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखाए जाने पर राजनीति एकबार फिर गर्म हो गई है। विपक्ष को जेडीयू और बीजेपी के उन नेताओं जिन्हें दोबारा मंत्री पद नहीं मिला है पर कटाक्ष करने का एक मौका मिल गया है। 

राजद और अन्य विपक्षी दलों द्वारा इस मामले को लेकर कटाक्ष करने का दौर जारी है। कोई इसे जेडीयू और खासकर सीएम नीतीश कुमार के साथ बेइंसाफी बता रहा है तो कोई मंद-मंद मुस्कुरा कर रहा है। 

इस मुद्दे पर जब न्यूज4नेशन ने संवाददाता ने राजद के वरिष्ठ नेता व प्रवक्ता भाई वीरेन्द्र से पूछा कि इसबार बीजेपी ने छठी बार सांसद बने राधामोहन और दूसरी बार जीते रामकृपाल यादव को मंत्री पद नहीं मिला इसपर आप क्या कहना चहेंगे। 

भाई वीरेन्द्र राधामोहन सिंह को लेकर कहा कि यह बीजेपी का अंदरूनी मामला है। वहीं रामकृपाल के नाम पर बोले की नो कमेंट्स। लेकिन इसके बाद वे मंद-मंद मुस्कुराते नजर आएं। 

बता दें कि बिहार से मोदी मंत्रिमंडल में 6 मंत्री बनाए गए है। जिनमें 5 बीजेपी से है। जिनमें गिरिराज सिंह, अश्विनी चौबे, रविशंकर प्रसाद, आरके सिंह पहले भी मंत्री रहे चुके हैं। जबकि नित्यानंद राय पहली बार मंत्री बनाए गये है। वहीं पिछली सरकार में केन्द्रीय कृषि मंत्री रहे राधामोहन सिंह और रामकृपाल यादव को इसबार जगह नहीं मिली है। 

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News