लोकसभा चुनाव में जीरो पर ऑलआउट होने के बाद आरजेडी का मंथन, क्या हार पर तय होगी जिम्मेदारी?

लोकसभा चुनाव में जीरो पर ऑलआउट होने के बाद आरजेडी का मंथन, क्या हार पर तय होगी जिम्मेदारी?

PATNA : लोकसभा चुनावमेंजीरो पर ऑलआउट होने के बाद आरजेडी हार की समीक्षा कर रही है। दो दिनों तक चलने वाली इस समीक्षा बैठक में पहले दिन हारे हुए प्रत्याशियों और पदाधिकारियों तथा दूसरे दिन विधायकों से हार के कारण पूछे जाएंगे। बड़ा सवाल यह है कि क्या हार पर तय होगी जिम्मेदारी?

बैठक से पहले आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने बताया कि बताया कि तेजस्वी यादव की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में तमाम मुद्दों की समीक्षा की जाएगी, जो पार्टी की कारण का हार का कारण बनी हो सकती हैं। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में ही पार्टी बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

बताया जा रहा है कि बैठक में पूर्व मंत्री तेजप्रताप की नाराजगी को लेकर भी मुद्दा उठने की संभावना है। आरजेडी नेताओं का मानना है कि जहानाबाद में राजग के प्रत्याशी की हार का मुख्य कारण तेजप्रताप द्वारा आरजेडी के विरोध में प्रत्याशी उतारना माना जा रहा है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस ही नहीं आरजेडी में भी पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद के खिलाफ विरोध के स्वर बुलंद हो रहे हैं। सोमवार को आरजेडी के एक विधायक महेश्वर यादव ने ही तेजस्वी से प्रतिपक्ष के नेता पद से इस्तीफा देने की मांग कर डाली।

बता दें कि लोकसभा चुनाव में विपक्षी दलों के महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे आरजेडी का ही सूफड़ा साफ हो गया है। महागठबंधन की ओर से बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस सिर्फ एक सीट जीतकर महागठबंधन का खाता खोल सकी। अब देखने वाली बात होगी कि समीक्षा बैठक से क्या निकल कर सामने आता है।

Find Us on Facebook

Trending News