RJD की महिला विधायक ने खोया 'आपा' तो मंत्री जी की बंध गई 'घिग्घी' ! भरी मीटिंग में DM की लगा दी क्लास, डर से सभी लोगों की बोलती हुई बंद

RJD की महिला विधायक ने खोया 'आपा' तो मंत्री जी की बंध गई 'घिग्घी' ! भरी मीटिंग में DM की लगा दी क्लास, डर से सभी लोगों की बोलती हुई बंद

नवादा. सर्किट हाउस में उस समय अफरा तफरी मच गई, जब राजद विधायक विभा देवी जिला प्रभारी मंत्री समीर कुमार महासेठ पर बरस पड़ी। विधायक ने मंत्री व जिलाधिकारी की जमकर खरी खोटी सुनाई। दरअसल विधायक अपने समर्थकों व कार्यकर्ताओं के साथ कई घण्टों से सर्किट हाउस में प्रभारी मंत्री का इंतजार कर रही थीं। लेकिन सूबे के उद्योग मंत्री सह जिला प्रभारी मंत्री समीर कुमार महासेठ उनसे मिलने के बजाय अधिकारियों के साथ बैठक करने सर्किट हाउस के सभागार में चले गए। इस पर विधायक भड़क उठी और मीटिंग हॉल में पहुंचकर मंत्री पर बरसने लगी।

जिला प्रभारी मंत्री बनने पर समीर महासेठ पहली बार नवादा पहुंचे थे। प्रभारी मंत्री से मिलने के लिए राजद विधायक विभा देवी दूसरे कमरे में इंतजार कर रही थी। जैसे ही मंत्री उनको नजरअंदाज किया, वैसे ही उनका पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। काफी गुस्से में वह कमरे से निकल कर सीधे बैठक हॉल में घुस गईं और मंत्री की क्लास लगाना शुरू कर दी। प्रणाम मंत्री जी कहते हुए अपना गुस्सा मंत्री पर अधिकारियों के सामने ही निकालने लगीं। उन्होंने कहा कि हमें जनता ने जीताया है। हम पहले उनकी सेवा करने के लिए हैं। इस दौरान सर्किट हाउस में अफरा तफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। बैठक में शामिल अधिकारी हक्के-बक्के रह गए। इस बीच डीएम उदिता सिंह ने हस्तक्षेप करने की कोशिश की तो उन्हें भी विधायक के गुस्से से दो-चार होना पड़ा। विधायक ने डीएम को भी जमकर सुनाया। 

विधायक का रौद्र रूप देख प्रभारी मंत्री बैठक छोड़ बाहर निकले। इस दौरान वह विधायक को शांत करते दिखे। मिली जानकारी के अनुसार विधायक को ज्यादा गुस्सा करने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। वहीं घटना के बाद डीएम बैठक से निकल गईं और गाड़ी से अपने आवास चली गईं। बहरहाल इस पूरे प्रकरण के दौरान सर्किट हाउस में अफरा तफरी की स्थिति बनी रही। कार्यकर्ता अपने विधायक के इस पहल से काफी खुश दिखे। वहीं अधिकारियों के बीच हड़कंप मच गया।

सवाल पूछने पर संवाददाता को पाठ पढ़ाने लगे मंत्री

विधायक की नाराजगी के बाबत संवाददाता ने प्रभारी मंत्री से सवाल पूछा तो वे पाठ पढ़ाने लग गए। पहले तो उन्होंने ऐसी किसी स्थिति से इनकार किया, पर जैसे ही उन्हें बताया गया कि सारा मामला कैमरे में कैद है तो वह वीडियो को डिलीट करने को कह दिया। उन्होंने मीडिया पर तंज कसते हुए कहा कि अगर आप जंगलराज को स्थापित करना है तो वीडियो को जरूर दिखाएं अन्यथा इसे डिलीट करते हुए पॉजिटिव खबर दिखाएं। वहीं विधायक विभा देवी ने कहा कि उनकी मंत्री से कोई नाराजगी नहीं है। सरासर गलती जिलाधिकारी की है। हम सभी सुबह नौ बजे से इंतजार कर रहे थे, लेकिन एमएलए व एमएलसी की अनदेखी की गई और दरवाजे को बंद कर दिया गया।


Find Us on Facebook

Trending News