RJD ने बिना शर्त गठबंधन के लिए 5 माह पहले ही ममता बनर्जी को भेजा था प्रस्ताव, फिर भी तेजस्वी के सिपहसलार को TMC ने नहीं दिया भाव

RJD ने बिना शर्त गठबंधन के लिए 5 माह पहले ही ममता बनर्जी को भेजा था प्रस्ताव, फिर भी तेजस्वी के सिपहसलार को TMC ने नहीं दिया भाव

PATNA: पश्चिम बंगाल में आने वाले समय में विधानसभा का चुनाव है।  बंगाल के दंगल में कूदने के लिए लालू प्रसाद की पार्टी राजद बेचैन है। तेजस्वी यादव के नए सिपहसलार सत्ताधारी टीएमसी से गठबंधन को बैचेन हैं। लेकिन ममता बनजी राजद को भाव ही नहीं दे रही। राजद के नए सिपहसलार ममता बनर्जी की पार्टी से गठबंधन के लिए खूब हाथ-पांव मार रहे लेकिन तृणमूल कांग्रेस कोई तवज्जो ही नहीं दे रही। 

राजद ने बिना शर्त गठबंधन का दिया था प्रस्ताव

राजद किस कदर बेचैन है इसकी पुष्टि आरजेडी के पत्र से ही हो रहा है। राजद की तरफ से 21 अगस्त 2020 को ही ममता बनर्जी को पत्र लिखा गया था। राजद के पश्चिम बंगाल के सेक्रेटरी नंद बिहारी यादव की तरफ से यह पत्र लिखा गया. पत्र में तृणमूल कांग्रेस से बिना शर्त गठबंधन की वकालत की गई थी. राजद के पत्र में कहा गया है कि धर्मनिरपेक्षता और सामाजिक न्याय को बनाये रखने के लिए  वेस्ट बंगाल विधानसभा चुनाव में गठबंधन किया जाए, ताकि बीजेपी जैसी सांप्रदायिक ताकतों को रोका जा सके. आरजेडी की तरफ से ममता बनर्जी को भेजे गए प्रस्ताव में कहा गया की पार्टी बिना किसी शर्त के गठबंंधन चाहती हैं.प्रदेश महासचिव ने पत्र में उल्लेख किया है कि 1993 और 2001 में लेफ्ट के साथ गठबंधन कर हमारे दो एमएलए चुनाव जीत चुके हैं. उनमें हीरापुर और बड़ा बाजार कोलकाता शामिल है.

तेजस्वी के सिपहसलार का कोई भाव नहीं दे रही टीएमसी 

राजद की तरफ से करीब पांच महीने पहले ही ममता बनर्जी को गठबंधन करने के लिए पत्र भेजा गया था। लेकिन उनकी तरफ से कोई रिस्पॉंस नहीं हुआ। अब  राजद के नए सलाहकार श्याम रजक जो बंगाल के प्रभारी बने हैं वे बंगाल दौरे पर हैं। श्याम रजक की तरफ से बताया गया था कि बंगाल दौरे के दौरान वे ममता बनर्जी और उनके राजनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर से मुलाकात करेंगे। राजद ने वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दिकी और श्याम रजक को बंगाल भेजा। लेकिन इन दोनों की मुलाकात ममता बनर्जी से नहीं हो सकी। ममता बनर्जी की बात छोड़िए उनके भतीजे से भी बात नहीं हो सकी है। ममता बनर्जी की तरफ से इन नेताओं को टाइम ही नहीं दी गई। श्याम रजक बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से मुलाकात को लेकर खूब जतन करते रहे लेकिन वहां कोई नोटिस लेने वाला नहीं था।   

बड़ी मुश्किल से प्रशांत किशोर से हुई मुलाकात

जानकारों का कहना है कि श्याम रजक की सिर्फ प्रशांत किशोर से बात हुई है। हालांकि पीके से मुलाकात के दौरान भी गठबंधन को लेकर कोई खास बात नहीं हुई। ऐसे में बड़ा सवाल यही है कि बिना शर्त समर्थन देने वाले आरजेडी नेताओं को ममता बनर्जी कोई भाव नहीं दे रहीं। बताया जाता है कि राजद अब सिर्फ 2 सीटों की मांग कर रही है लेकिन सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस उस पर भी राजी नहीं हो रही। 


Find Us on Facebook

Trending News