रालोजपा ने लगाया आरोप, शराब के अवैध धंधेबाजों को है राजद नेताओं का संरक्षण

रालोजपा ने लगाया आरोप, शराब के अवैध धंधेबाजों को है राजद नेताओं का संरक्षण

NEW DELHI : राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (रालोजपा) ने गोपालगंज और बेतिया में नकली शराब पीने से हुई मौत पर दुख जताया है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने कहा की पार्टी की संवेदना पीड़ित परिवारों के साथ है। मामले के दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी। उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है। व्यापक जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। वहीं पार्टी ने मुख्य विपक्षी दल राजद को कटघरे में खड़ा करते हुए जहरीली शराब से हुई मौत के लिए उसे जिम्मेदार ठहराया है। 

पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने जहरीली शराब पीने से हुई मौत पर कहा कि राजद के नेता और कार्यकर्ता शराब के धंधे में लिप्त रहे हैं। राजद नेताओं के संरक्षण में कुछ लोग लुके-छिपे शराब का अवैध धंधा के कर रहे हैं। राजद का इतिहास रहा है कि इसके कार्यकर्ता शराब का अवैध या वैध धंधा करते थे और अब जब शराब बंदी लागू हो गई है तो ये अवैध तरीके से धन्धा करना चाह रहे हैं। लेकिन राज्य सरकार ऐसा नहीं होने देगी। शराब के कारोबार में लिप्त लोगों पर कड़ी कार्रवाई होगी। किसी सूरत में बिहार में शराब का कारोबार नहीं चल सकता। जो भी शराब के अवैध कारोबार में पकड़े जा रहे है, उनकी सम्पति को जब्त किया जा रहा हैं,उनके घर को जब्त कर स्कूल खोला जा रहा हैं। 

श्रवण अग्रवाल ने कहा कि शराब बंदी से बिहार में अमन चैन आया है। लाखों घरों में खुशियां वापस आ गई है। बिहार की महिलाएं खुश हैं। अब उनके घर के मर्द शराब में कमाई को नहीं उड़ाते हैं और न ही घरेलू हिंसा करते हैं। बिहार ने शराबबंदी की नजीर देश में पेश की है। लेकिन राज्य में इतना अमन- चैन और लोगों की खुशियां विपक्ष से देखी नहीं जा रही है। इसलिए उलूल -जलूल आरोप लगा रहे हैं। राज्य सरकार शराब बंदी को लेकर कितना सख्त है इसका अंदाजा इसी बात से लग जाता है कि अब तक लाखों लोग इस कानून के उल्लंघन में जेल भेजे जा चुके हैं। 

नई दिल्ली से धीरज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News