आरएसएस के 20 दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग का हुआ समापन, 300 से अधिक कार्यकर्त्ता हुए शामिल

आरएसएस के 20 दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग का हुआ समापन, 300 से अधिक कार्यकर्त्ता हुए शामिल

 DHANBAD : हिदू समाज की स्थिति आज ऐसी हो गई है कि सुदामा कृष्ण के पास आना भी चाहे तो नहीं आ सकता. सुदामा की राह में कई बैरिकेड लगा दिए गए हैं. ईसाई मिशनरियों का बैरिकेड, इस्लामिक आतंकवादियों का बैरिकेड जिन्हें वह लांघ नहीं सकता. मय की मांग है कि अब कृष्ण को ही सुदामा के पास जाना होगा. सामाजिक समरसता को पुष्ट करना होगा. यही काम राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) कर रहा है. 

यह कहना है आरएसएस के उत्तर पूर्व क्षेत्र (बिहार-झारखंड) प्रचारक रामदत्त चक्रधर का. वे धनबाद केमिकल परिसर में संघ शिक्षा वर्ग के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे. धनबाद में संघ के उत्तर पूर्व क्षेत्र  का प्रथम और द्वितीय वर्ष संघ शिक्षा वर्ग पिछले 20 दिनों से चल रहा था. इसमें झारखंड और बिहार के करीब 300 प्रतिनिधि भाग ले रहे थे. 

25 मई से 14 जून तक चल रहे अभ्यास वर्ग में भाग लेने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी समेत झारखंड और बिहार के कई सांसद, विधायक और मंत्री शिरकत करने धनबाद पहुंचे थे.  मीडिया से बात करते हुए सह कार्यवाहक राम लाल ने बताया कि शनिवार को इनका दीक्षांत समारोह आयोजित होगा जिसमें  तमाम बड़े अधिकारी अपने मंतव्यों से प्रशिक्षुओं का मार्गदर्शन करेंगे.

धनबाद से राजकुमार जायसवाल की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News