हादसे में हुए मौत के मुआवजे के लिए अंचल कार्यालय में किन्नरों का हंगामा, दफ्तर छोड़कर भागे कर्मचारी

हादसे में हुए मौत के मुआवजे के लिए अंचल कार्यालय में किन्नरों का हंगामा, दफ्तर छोड़कर भागे कर्मचारी

GOPALGANJ : गोपालगंज जिले के मांझा अंचल कार्यालय में उस समय अजीबोगरीब माहौल हो गया, जब बड़ी संख्या में किन्नर वहां पहुंचकर हंगामा करने लगे। बताया गया कि कि किन्नर  कुछ दिन पहले हादसे में साथी की मौत के बाद मुआवजा नहीं मिलने से नाराज थे। आक्रोशित किन्नरों ने इस दौरान कार्यालय के प्रधान सहायक के साथ किन्नरों ने बदसलूकी की। उनके आरोप सुन कर्मचारी कुर्सी छोड़कर इधर-उधर जाने लगे। किन्नर मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। उनका आरोप था कि मुआवजा देने के लिए रिश्वत मांगी जा रही है। हालांकि बाद में कार्यालय में आए कुछ लोगों ने किन्नरों को समझाकर शांत करा दिया। इसके बाद किन्नर कार्यालय से चले गए। 

किन्नरों ने की कर्मचारियों से बदसलूकी

इस दौरान किन्नरों ने प्रधान सहायक से बदसलूकी भी की। किन्नर मृतक किन्नर के स्वजनोंं को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। उनका आरोप था कि एक दिन पहले गुरुवार को एक किन्नर अंचल कार्यालय में मुआवजे के बारे में पता लगाने के लिए आया था तो उससे रिश्वत की मांग की गई थी। किन्नरों के हंगामे के दौरान अंचल कार्यालय में अफरा-तफरी की स्थिति बन गई। अपनी-अपनी कुर्सी छोड़कर कर्मी इधर-उधर चले गए। हालांकि सीओ शाहिद अख्तर ने किन्नरोंं के प्रधान सहायक के साथ बदसलूकी करने से इनकार किया है।

दो सप्ताह पहले हुआ था हादसा

मांझागढ़ थाना क्षेत्र के भड़कुइयां गांव निवासी 40 वर्षीय निक्की किन्नर की 27 अगस्त को महम्मदपुर थाना क्षेत्र के डुमरिया पुल के पास एक ट्रक की चपेट में आने से मौत हो गई थी। इस घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे किन्नरों ने हंगामा शुरू कर दिया था। वे साथी के स्वजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मुआवजा दिलाने का आश्वासन देकर किन्नरों को शांत करा दिया था, लेकिन किन्नर के स्वजनोंं को अब तक मुआवजा नहीं मिला। इससे नाराज किन्नर शुक्रवार को मांझा अंचल कार्यालय में पहुंचकर प्रदर्शन करते हुए हंगामा करने लगे।


Find Us on Facebook

Trending News