राजधानीवासी गन्दे पानी मे डूबने को रहिये तैयार : अंचलों ने ले लिए 25-25लाख, लेकिन नहीं कि नाले की उड़ाही

राजधानीवासी गन्दे पानी मे डूबने को रहिये तैयार : अंचलों ने ले लिए 25-25लाख, लेकिन नहीं कि नाले की उड़ाही

PATNA : मानसून बस आने ही वाला है, केरल में दस्तक दे चुका है, मौसम विभाग की मानें तो 15 जून तक मानसून पटना में पधार जाएगा। वहीं दूसरी तरफ अपनी गन्दगी के लिये बदनाम राजधानी पटना में बड़े नालों की उड़ाही अभी तक अधूरी है। 

नाले उड़ाही के लिये 6 करोड़ का बजट निर्धारित है। सभी अंचलों को बड़े नालों की सफाई के लिये 25-25 लाख रुपये दे दिए गए हैं। नाले उड़ाही की स्थिति से असंतुष्ट नगर आयुक्त ने आदेश जारी कर जल्द से जल्द नाले का काम पूरा करने को कहा है। पटना मेयर सीता साहू का दावा है कि नाला उड़ाही का काम समय से कर लिया जाएगा। 

हद है जरा सोचिये की जिन बड़े नालों की उड़ाही की गई है वो भी अधूरी है और जब मानसून सर पे आकर खड़ा है तब मेयर यह दावा कर रही हैं कि नाला उड़ाही का काम समय पर कर लिया जाएगा। 

इधर नगर प्रशासन का कहना है कि नाले की उड़ाही से संबंधित सभी उपकरण मजदूरों को उपलब्ध करा दिया गया है उसके बावजूद मेनहोल में जाते समय उसका उपयोग नहीं किया जाता। कुल मिलाकर नाला उड़ाही अभी तक नही होना यह साबित करता है कि पिछले सालों की तरह इस बार भी बारिश में पटना के लोगों को जलजमाव की समस्या से दो चार होना ही होगा।

पटनावासियों को याद है कि कैसे पुनाईचक में खेलने के दौरान गिरे गए एक मासूम की लाश कई दिनों तक खोजे जाने के बाद भी नहीं मिल पाया था और उस समय जब नाले की उड़ाही की गई तो 20 ट्रक से ज्यादा गन्दगी निकाली गई थी। इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि पटना के नालों की स्थिति क्या है।

Find Us on Facebook

Trending News