रूपेश हत्याकांड : पूर्वांचल के गाजीपुर से तार जुड़ने के संकेत ! पेशेवर हत्यारों ने दिया घटना को अंजाम

रूपेश हत्याकांड : पूर्वांचल के गाजीपुर से तार जुड़ने के संकेत ! पेशेवर हत्यारों ने दिया घटना को अंजाम

डेस्क...  डिगो एयरलाइंस के पटना एयरपोर्ट स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्या के 48 घंटे बीत जाने के बाद भी हत्यारे पकड़ से दूर हैं। मगर, इस हत्याकांड से जुड़े कई अहम सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं। इधर, इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार की हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस की नजर पटना के पेशेवेर अपराधियों पर है। पुराने और नए पेशेवर अपराधियों को खंगाला जा रहा है। जो जेल से बाहर हैं उन्हें कभी भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। हत्याकांड को सुलझाने के लिए पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी है। जांच में एसआइटी के अलावा तीन जिलों की पुलिस जुटी हुई है। बिहार के कई जिलों में ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है।

सूत्रों के मुताबिक इस हत्याकांड का तार पूर्वांचल के गाजीपुर से जुड़ रहा है।  दरअसल, पुलिस ने घटनास्थल व उसके आसपास के इलाके के मोबाइल फोन का डंप डाटा निकाला गया है, जिसमें एक-एक नंबर गाजीपुर और बेगूसराय के मिले हैं।  माना जा रहा है कि वे शॉर्प शूटर के हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस की टीम जल्द ही गाजीपुर व बेगूसराय भी जांच के लिए जाएगी।

इधर, एसआइटी ने गुरुवार को भी पटना के पुनाईचक इलाके से दो युवकों को उठाया। दोनों से पूछताछ चल रही है। सूत्रों के अनुसार, दोनों के चेहरे सीसीटीवी कैमरे में दिखे युवकों से मिलते-जुलते हैं। इससे पहले बुधवार को एसआइटी ने बिहटा से तीन युवकों को हिरासत में लिया था। हालांकि, अब तक पुलिस हत्याकांड के मूल कारणों तक नहीं पहुंच पाई है। 

इस काम में विशेषज्ञों को लगाया गया

पटना पुलिस की एसआईटी और एसटीएफ की स्पेशल इंटेलिजेंस ग्रुप  डंप डाटा को खांगलने में जुटी है। घटनास्थल (पुनाईचक) के साथ ही एयरपोर्ट तक के रूट के कई मोबाइल टावरों का डंप डाटा निकाला गया है। डंप डाटा के जरिए वैसे मोबाइल नम्बर की तलाश की जा रही है, जो एयरपोर्ट से लेकर पुनाईचक तक रूपेश के आने के वक्त एक्टिव थे। इस काम में कई विशेषज्ञ पुलिसवालों को लगाया गया है।

पुलिस को शक, हत्यारे पेशेवर हैं
मंगलवार की शाम रूपेश को उस वक्त गोली मारी गई जब वह एयरपोर्ट से पुनाईचक स्थित अपने घर लौट रहे थे। अपार्टमेंट के गेट के सामने उन्हें एक के बाद एक कई गोलियां मारी गईं। जिस अंदाज में वारदात को अंजाम दिया गया, उससे साफ है कि हत्यारे पेशेवर हैं। या तो वे किसी गिरोह के लिए शूटर का काम करते हैं या फिर खुद का उनका गिरोह होगा। यही वजह है कि पुलिस, पटना से जुड़े तमाम पेशेवरों गिरोहों को खंगाल रही है। सूत्रों के मुताबिक ऐसी आशंका है कि हत्या सुपारी देकर कराई गई है। हालांकि वजह का पता नहीं चलने से पुलिस की मुश्किलें कायम है और अबतक वह किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है।


कई एंगल पर पुलिस कर रही काम
पुलिस सूत्रों के मुताबिक हत्या की वजह क्या है, इसे जानने के लिए कई एंगल पर काम हो रहा है। संपत्ति, सर्किल और एयरपोर्ट समेत तमाम संभावित वजहों पर काम चल रहा है। जांच कई बिंदुओं पर जारी है। उनके जानने वाले लोगों से भी पूछताछ की तैयारी है। रूपेश के करीबियों की सूची तैयार की जा रही है। अंतिम संस्कार करने गांव गए परिजनों के पटना लौटने का इंतजार है। उनके पटना आने के बाद पुलिस रूपेश कुमार की हत्या की वजहों को जानने का प्रयास करेगी।

सीएम ने दिया अल्टीमेटम

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुलिस हत्यारों को जल्द-से-जल्द पकड़ने का अल्टीमेटम दिया है. इसके बाद एसआइटी ने अपनी जांच तेज कर दी है. अब तक एसआइटी मृत रूपेश कुमार सिंह के परिजनों, कार्यालय सहयोगियों समेत 82 लोगों से पूछताछ कर चुकी है. रूपेश कुमार सिंह की हत्या में अब तक छह अपराधियों के शामिल होने के संकेत पुलिस को जांच के दौरान मिले हैं.

सूत्रों के अनुसार, दो अपराधी रूपेश का एयरपोर्ट से पीछा करते हुए पुनाईचक तक आये. दो अपराधी बलदेव चौक के पास थे और दो उनके अपार्टमेंट के आसपास मंडरा रहे थे. ये सभी अपराधी एक-दूसरे से मोबाइल फोन से जुड़े थे और रूपेश के संबंध में सूचनाएं एक-दूसरे को दे रहे थे.

पुलिस अभ अंधेरे में चला रही तीर

इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह हत्याकांड में अभी तक पुलिस कोई स्पष्ट थ्योरी तक नहीं पहुंच पाई है। हत्या के मकसद, घटना की पूरी प्लानिंग को लेकर अन्य कई बिंदुओं पर अभी एक राय तय नहीं की जा सकी है। पुलिस कई बिंदुओं पर काम कर रही है। एडीजी (मुख्यालय) जीतेंद्र कुमार ने बताया कि अभी घटना के उद्भेदन के बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।जानकारी के अनुसार गुरुवार को भी पुलिस मुख्यालय स्तर से हत्याकांड में अब तक की गई कार्रवाई के पल-पल की रिपोर्ट ली गई। डीजीपी अपने स्तर से पुलिसिया कार्रवाई पर नजर बनाये रहे। पुलिस मुख्यालय पटना रेंज के आइजी से रिपोर्ट ले रहा है। 

Find Us on Facebook

Trending News