बांस से बने सामान बनाकर अपनी जिंदगी बदलने की कोशिश में जुटी हैं ग्रामीण महिलाएं, रोजगार का भी बना जरिया

बांस से बने सामान बनाकर अपनी जिंदगी बदलने की कोशिश में जुटी हैं ग्रामीण महिलाएं, रोजगार का भी बना जरिया

KATIHAR : कटिहार में वेणु शिल्प यानी बांस के बने हुए सामानों के सहारे सुदूर इलाके के महिलाओं की रोजगार सृजन की एक नायाब कोशिश हो रही है। हसनगंज प्रखंड के इलाकों में जीविका द्वारा मास्टर ट्रेनर के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को कई प्रकार के बांस से सामान बनाने की ट्रेनिंग दिया जा रहा है।

यहां ग्रामीण महिलाओं को बांस से बने गुलदस्ता,पेन स्टैंड, माथा में लगाने वाली क्लिप और छोटे बड़े घरेलू सामान बनाने के ट्रेनिंग के साथ-साथ इन उत्पादित सामानों के लिए बाजार उपलब्ध करवाने के लिए भी जीविका के तरफ से पहल की जा रही है। मास्टर ट्रेनर गब्रेल कहते हैं कि महिलाओं की इसमें काफी रूचि भी है और बेहद तेजी से ग्रामीण महिलाएं वेणु शिल्प से जुड़े इस कला को सीख रहे हैं। ग्रामीण महिलाएं भी इस ट्रेनिंग से बेहद खुश हैं और उन्हें उम्मीद है कि आने वाले दिनों में इन सामानों के बाजार में बेचकर वह लोग अच्छा रोजगार भी कर लेंगे।

 जबकि जीविका कोऑर्डिनेटर कहते हैं इस बार बाजार उपलब्ध करवाने के लिए भी विशेष उपाय किया गया है, जिससे ट्रेनिंग के बाद इन वस्तुओं को बनाने वाले महिलाएं इसे बनाकर बाजार में बेचकर आर्थिक रूप से संभ्रांत हो सके और जीवन स्तर को बेहतर कर सकें।


REPORTED BY SHAYAM


Find Us on Facebook

Trending News