जब पायलट की सूझबूझ से बची 233 लोगों की जान...मक्के के खेत में उतारा विमान

जब पायलट की सूझबूझ से बची 233 लोगों की जान...मक्के के खेत में उतारा विमान

एक पायलट की सूझबूझ ने 233 लोगों की जान बचा ली। ये रूसी विमान में सवार 233 यात्रियों के लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं था। मॉस्को के एयरपोर्ट से विमान ने उड़ान भरी ही थी कि शहर के बाहरी इलाकों में पक्षियों का झुंड टकरा गया। ऐसी स्थिति में विमान को आगे ले जाना संभव नहीं था और पायलट ने समझदारी का परिचय देते हुए इमर्जेंसी लैंडिंग का फैसला लिया। आनन-फानन में विमान को पायलट ने मक्के के खेत में ही उतार दिया।

रूसी स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक विमान में सवार 23 लोग घायल हुए हैं, लेकिन किसी भी यात्री की मौत की खबर नहीं है। यूराल एयरलाइंस के विमान एयरबस 321 ने मॉस्को से उड़ान भरी थी, लेकिन शहर के दक्षिणपूर्वी इलाके में स्थित एक खेत में ही इमर्जेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। विमान के इंजन में कई पक्षियों के फंसने के चलते संचालन मुश्किल हो रहा था। रूस के झुकोवस्की इंटरनैशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरने के बाद महज एक किलोमीटर की ही दूरी पर इसे उतारना पड़ा।

रूस की सिविल एविएशन अथॉरिटी की प्रवक्ता एलेना मिखेयेवा ने कहा कि जब इमरजेंसी लैंडिंग की गई तो इंजन को बंद कर दिया गया और इसके लैंडिंग गियर भी ऊपर थे। स्टेट टेलीविज़न को एक यात्री ने बताया कि टेक-ऑफ के तुरंत बाद फ्लाइट ने हिलना शुरू कर दिया था। उन्होंने कहा 'पांच सेकंड बाद, विमान के दाईं ओर की लाइटें चमकने लगीं और जलने की गंध आई। फिर विमान ने लैंड किया और सभी लोग वहां से भागने लगे।' स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस हादसे में 23 लोगों को चोट आई है।

Find Us on Facebook

Trending News