वैशाली के लाल सचिन ने बढ़ाया बिहार का मान, पहली प्रयास में यूपीएससी की CDS परीक्षा में किया टॉप

वैशाली के लाल सचिन ने बढ़ाया बिहार का मान, पहली प्रयास में यूपीएससी की CDS परीक्षा में किया टॉप

VAISHALI : मन में लगन हो और परिश्रम का जज्बा हो तो कोई भी लक्ष्य प्राप्त किया सकता है. वैशाली के जंदाहा  निवासी सचिन कुमार ने संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के सीडीएस परीक्षा 2019 में देश में प्रथम स्थान प्राप्त कर अपने दादा के सपने को साकार किया है. जंदाहा के सस्तुल गांव निवासी स्व. भोला राय अपने पोते सचिन को देश की सेवा के लिए भारत के सर्वेश्रेष्ठ पद पर देखना चाहते थे. सपने को उनके पोते ने प्रथम प्रयास में हकीकत में बदल दिया. गरीबी और तंगी से गुजरते हुए स्व. भोला राय अपने होनहार पोता सचिन को सैनिक स्कूल से पढ़ा कर देश की सेवा भेजना चाहते थे. लेकिन पैसों की तंगी होने के बावजूद भी पोते में पढ़ाई के प्रति लगन को देख उनके चाचा स्व. सुंदेश्वर राय ने आर्थिक व अन्य मदद खुले दिल से किया. लगभग 20 वर्ष पूर्व दादा के देखे गए सपने को पोते ने केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल में (सहायक कमांडेंड) बनकर सपने को साकार कर दिया. 

गांव के छोटे से विद्यालय से शुरु की पढ़ाई

जिले के जंदाहा निवासी मधेपुरा के बीएनएमयू लीगल सेल इन चार्ज के पद पर पदस्थापित डॉ. राजेश्वर राय व माता गृहणी चंदा देवी के पुत्र सचिन ने यूपीएससी के सेंट्रल आर्म्ड फोर्सेज परीक्षा 2019 में पहला स्थान प्राप्त किया है. इस सफलता को हासिल कर सचिन ने दादा, माता, पिता समेत पुरे बिहार के लोगों को गौरवान्वित  किया है. जैसे ही यूपीएससी परीक्षा का फाइनल रिजल्ट का प्रकाशन हुआ. गांव के लोगों ने जमकर होली खेलते हुए अपने लाला को बधाई दी. दिन के लगभग दो बजे रिजल्ट प्रकाशन की सूचना मधेपुरा में पदस्थापित सचिन के पिता डॉ. राजेश्वर राय को होते ही वैशाली, मधेपुरा और बीएचयू में खुशी का माहौल हो गया. 

पूर्व रक्षा मंत्री भी कर चुके हैं सम्मानित

जंदाहा के छोटे स्कूल से शिक्षा दीक्षा शुरु करने वाले सचिव ने वर्ग पांच तक सैनिक स्कूल तिलैया, ऑल इंडिया सैनिक स्कूल से वर्ग आठ तक और आरएमएस देहरादून से प्लस टू करने के बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. वर्ष 2012-13 में पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर कैडेड कैप्टन रहे सचिन को सॉड ऑफ ऑनर पुरस्कार से सम्मानित कर चुके है.  

गांव में है जश्न का माहौल

यूपीएससी सीडीएस परीक्षा में ऑल इंडिया रैकिंग में प्रथम स्थान लाने वाले सचिन के पैतृक गांव जंदाहा के सस्तुल में खुशी का माहौल है. वहीं वर्तमान में बीएचयू से पीजी फाइनल इयर का परीक्षा दे रहे निवर्तमान सहायक कमांडेड सचिन कुमार के दोस्तों को इसकी जानकारी होते ही खुशी का माहौल हो गया. गांव के सचिन के दोस्त सोनु कुमार, चाचा राहुल कुमार ने बताया कि संघ लोक सेवा आयोग द्वारा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल असिस्टेंट कमांडेंट परीक्षा दी. लॉक डाउन में घर पर रहकर इस तरह की सफलता मिलने से खुशी दोगुना हो गया.  वहीं उनके पिता डॉ. राजेश्वर राय ने बताया की सचिन ने यूपीएससी में प्रथम प्रयास में ही देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है. 

बिहार के लाल ने देश में बढ़ाया मान

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी ) के सीडीएस परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी होते ही इस परीक्षा में बैठने वाले छात्र-छात्राएं एवं परिवार में खुशी की बरसात होने लगी. यूपीएससी के बेवसाईट पर परिवार के सदस्यों ने जैसे ही रौल नंबर 1511652 सचिन कुमार का जेनरल कैटगरी में प्रथम स्थान पर लिस्ट में नाम होने पर खुशी का ठिकाना नहीं रहा. सचिन ने बिहार का नाम रौशन किया है. 

वैशाली से राजकुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News