राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह की आज से हुई शुरुआत, परिवहन मंत्री शीला मंडल ने किया उद्घाटन

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह की आज से हुई शुरुआत, परिवहन मंत्री शीला मंडल ने किया उद्घाटन

PATNA : राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह-2021 का शुभारंभ सोमवार को अधिवेशन भवन में परिवहन विभाग मंत्री शीला कुमारी ने किया. इसके साथ ही सड़क सुरक्षा जागरुकता रथ एवं सड़क सुरक्षा जागरुकता युक्त बीएसआरटीसी की बसों का हरी झंडी दिखा कर अधिवेशन भवन से रवाना किया. परिवहन मंत्री ने कहा कि परिवहन विभाग सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में लगातार बेहतर कार्य रहा है. सड़क सुरक्षा नियमों को अपनाकर न सिर्फ खुद की जिंदगी बचा सकते हैं, बल्कि अपने पूरे परिवार को खुशहाल रख सकते हैं. 

सड़क सुरक्षा जिंदगी का अभिन्न हिस्सा

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि सड़क सुरक्षा हमसब की जिंदगी का अभिन्न हिस्सा है. सड़क सुरक्षा माह के दौरान जन-जन को जागरुक करने का अभियान चलाया जाएगा. हर दिन विभिन्न थीम पर जागरुकता कार्यक्रम चलाए जायेंगे. जागरुकता के साथ नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई की जाएगी.

हर जिले में ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने का लक्ष्य

परिवहन सचिव ने कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति परिवहन विभाग गंभीर है. इसके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किये जा रहे है. हर जिले में इस साल के अंत तक ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने का लक्ष्य रखा गया है. 

ट्रक-बस चालकों को रिफ्रेशर ट्रेनिंग

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि राज्य के ट्रक एवं बस चालकों को कुशल वाहन चालन के लिए रिफ्रेशर ट्रेनिंग दी जाएगी. सड़क सुरक्षा माह के दौरान विशेष शिविर लगा कर स्वास्थ्य जांच के साथ चालकों के आंखों की जांच की जाएगी एवं जांच के बाद आवश्यकतानुसार उन्हें निःशुल्क चश्मा दिया जाएगा. 

एनसीसी के सहयोग से सभी जिलों में चलाया जा रहा जागरुकता कार्यक्रम

एनसीसी के अपर महानिदेशक, बिहार एवं झारखंड मेजर जनरल एम इंद्र बालन ने कहा कि सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में एनसीसी कैडेट्स का योगदान पहले भी रहा है और आगे भी रहेगा. ट्रैफिक कम्यूनिटी पुलिस के माध्यम से भी राज्यभर में सड़क सुरक्षा प्रति आम लोगों को जागरुक किया जा रहा है. एनसीसी कैडेट्स फस्र्ट रिस्पांडर के रुप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. 

अभियान का दिख रहा साकारात्मक असर

महानिदेशक, अपराध अनुसंधान विभाग विनय कुमार ने कहा कि राज्य में चलाये जा रहे हेलमेट-सीटबेल्ट जांच अभियान का साकारात्मक असर देखने को मिला है. हेलमेट-सीटबेल्ट धारण का प्रतिषत बढ़ने से सड़क दुर्घटना के पश्चात मौतों में कमी आ सकेगी. 

राज्य परिवहन आयुक्त ने सड़क सुरक्षा पर दी प्रस्तुति

राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी ने राज्य की सड़क सुरक्षा स्थिति एवं बिहार सड़क परिषद् द्वारा किये जा रहे कार्यों की पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुत की. इस दौरान उन्होंने बताया कि साल दर साल सड़क दुर्घटनाओं में कमी आयी है. साथ ही चुनौतियां भी बढ़ी है. सड़क दुर्घटनाओं एवं उसके फलस्वरुप होने वाली मृत्यु में कमी लाने के लिए लगातार कोशिश की जा रही है. 

सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाले को मिला सम्मान

सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाले बिहार सड़क सुरक्षा के सहभागियों और संस्था के प्रतिनिधियों को परिवहन विभाग मंत्री शीला कुमारी और परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल द्वारा सम्मानित किया गया. 

इन्हें मिला सम्मान सड़क सुरक्षा सम्मान

अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध अनुसंधान विनय कुमार, अपर महानिदेशक एनसीसी, मेजर जनरल एम इंद्र बालन, प्रशासक बीएसआरटीसी श्याम किशोर, पुलिस अधीक्षक यातायात अमरकेश डी, एनएसएस के रिजनल डायरेक्टर पीयूष वी प्रांजपे, ट्रैफिक डीएसपी-1, पटना ओम प्रकाश चैधरी, आर्ट्स एंड क्राफ्ट काॅलेज डा राखी कुमारी, बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के परियोजना पदाधिकारी जीवन कुमार, एम्स की डाॅक्टर नेहा और सामूहिक रुप से लेडी ट्रैफिक कांस्टेबल एवं एनसीसी की टीम को सम्मानित किया गया. 

सड़क हादसे के पीड़ितों को मदद करने वाले गुड सेमेरिटन को किया जाएगा सम्मानित

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि सड़क दुर्घटना के पीड़ितों को मदद करने गुड सेमेरिटन को 26 जनवरी के मौके पर सम्मानित किया जाएगा. सड़क सुरक्षा के लिए कार्य करने वाले डाॅक्टर, ट्रैफिक पुलिस, एनसीसी और अन्य लोगों को भी सम्मानित किया जाएगा जिन्हों ने सड़क सुरक्षा के लिए कार्य किया है. 

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News