सदर अस्पताल को बना दिया है दलालों का अड्डा : प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के प्रभार वाले जिले के हेल्थ सिस्टम से लोगों को परेशानी

सदर अस्पताल को बना दिया है दलालों का अड्डा : प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के प्रभार वाले जिले के हेल्थ सिस्टम से लोगों को परेशानी

ARA : बिहार में महागठबंधन की नई सरकार बन गई है.सुबे के लोगों में बेहतर इलाज शिक्षा और कई मूलभूत सुविधाओं को लेकर सरकार से उम्मीद भी बंधी हुई है.वही राज्य के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव का प्रभार जिला आरा के सदर अस्पताल इन दिनों दलालों का अड्डा बना हुआ है.ऐसा हम नहीं बल्कि यहां इलाज कराने आएं भोले भाले गरीब मरीज के परिजनों का कहना है.

दरअसल शहर के अनाइठ मुहल्ले की रहने वाली रंजु देवी अपने बीमार पति भोला ठाकुर को इलाज कराने के लिए आरा सदर अस्पताल के ओपीडी लाई थी.जहां रंजु अपने पति भोला को डॉक्टर से दिखाने के लिए ओपीडी में लंबी लाइन में लगी और जब वहां बैठे डॉक्टर से पति को दिखाया तो डॉक्टर साहब के साथ वहां बैठे दलालों ने रंजु देवी को निजी क्लीनिक का पता थमा दिया.जिसके बाद मरीज और पीड़ित परिजनों ने अपनी गरीबी का हवाला देते हुए पीड़िता ने मरीज का इलाज सदर अस्पताल में ही कराने का विनती किया.लेकिन वहां बैठे डॉक्टर और दलाल उसकी एक बात भी नहीं सुनी.

जिसके बाद पीड़िता ने इसकी शिकायत सदर अस्पताल के सिविल सर्जन रामप्रीत सिंह से की. लेकिन साहेब ने भी उन्हें सिर्फ आश्वासन देते हुए उनको हॉस्पिटल मैनेजर से मिलने की बात कह अपना पल्ला झाड़ दिया. वहीं जब मामला मीडिया कर्मियों के संज्ञान में आया तो उन्होंने इसके बारे में जब सिविल सर्जन से पूछा तो उनके द्वारा टालमटोल जवाब देते हुए इसकी जांच कर कार्रवाई करने की बात कही.

बहरहाल आरा सदर अस्पताल का ये कोई पहला मामला नहीं है. जहां दूर दराज से आए भोले भाले गरीब मरीज और उनके परिजनों को दलालों द्वारा इलाज के नाम पर निजी क्लीनिक में भेज मोटी रकम वसूला जाता है और सिस्टम चुप्पी साध चुपचाप तमाशा देखती है।


Find Us on Facebook

Trending News