साधु यादव का लालू परिवार पर हमला जारी, कहा तेजस्वी ने जो किया वह ठीक नहीं, अपना कुल नाश लिया, हम यदुवंशी

साधु यादव का लालू परिवार पर हमला जारी, कहा तेजस्वी ने जो किया वह ठीक नहीं, अपना कुल नाश लिया, हम यदुवंशी

पटना. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के गैर यादव लड़की से विवाह करने के बाद से उनके मामा साधु यादव का गुस्सा सातवें आसमान पर है. जब से उन्हें तेजस्वी के विवाह की जानकारी मिली है वे लगातार लालू यादव और उनके बाल बच्चों पर गुस्सा निकाल रहे हैं. 

रविवार को न्यूज़4नेशन से विशेष बातचीत करते हुए साधु ने यहाँ तक कह दिया कि अगर तेजस्वी की तरह उनके बच्चों ने अंतरजातीय या अंतर्धार्मिक विवाह किया तो वे अपने बच्चों को कभी माफ़ नहीं करेंगे, गोली मार देंगे. तेजस्वी पर गुस्साए साधु ने कहा तेजस्वी की संतान को दुनिया क्या कहेगी. 

उन्होंने खुद को लालू यादव का सबसे बड़ा हमदर्द बताते हुए कहा कि जब भी लालू यादव पर कोई संकट आया वे चट्टान की भांति अड़े रहे. दिल्ली के किसी वाकये का जिक्र करते हुए साधु ने दावा किया कि तब लालू को दिल्ली में 3 हजार लड़कों ने घेर लिया था, उस समय उन्हें कौन बचाया था, साधु यादव. ठेठ अंदाज ने साधु बोले, लालू को कौन बचाया था? तेजस्वी खून है तब न दर्द है, जाओ न गढ्ढा में. 

साधु ने यहाँ तक दावा किया कि जब लालू यादव चारा घोटाले में पहली बार जेल जा रहे थे तब बिहार का सीएम साधु यादव बन रहे थे लेकिन उन्होंने अपनी जगह बहन राबड़ी देवी को सीएम बनवाया. तेजस्वी के विवाह की कड़ी आलोचना करते हुए साधु बोले कि अगर हमारा बाल बच्चा ऐसा काम करेगा तब हम तो गो ली मार देंगे. हमारी मां ही न लालू यादव का पांव पूजी है. हम परिवार हैं इसलिए आज वहां जो हो रहा उससे दर्द हो रहा है. 

कुछ लोगों द्वारा कथित रूप से साधु यादव को अपराधी कहने के सवाल पर साधु बोले, हम अपराधी हैं तो केस का दस्तावेज सामने लाया जाए. हमारे खिलाफ कहाँ मामला दर्ज है? तेजप्रताप यादव के ट्वीट पर उन्होंने कहा, तेजप्रताप अपने मुंह पर थूक रहा है. हम सब एक ही खानदान के हैं. हमलोग अलग नहीं हैं. लालू की सरकार हमने बनवाई. 

साधु यादव ने खुले तौर पर कहा कि वे इस जन्म में तेजस्वी और उसकी बहु को आशीर्वाद नहीं देंगे. गौरतलब है कि 9 दिसम्बर को दिल्ली में एक पारिवारिक समारोह में तेजस्वी यादव ने रेचल से शादी रचाई थी. इसमें साधु यादव को निमंत्रण नहीं दिया गया था. इस बीच शनिवार रात राबड़ी देवी भी दिल्ली से पटना लौट आई. वहीं तेजस्वी अभी भी दिल्ली में हैं. 



Find Us on Facebook

Trending News