सही दाम नहीं मिलने पर गोभी के खेत में चलाया था ट्रैक्टर, अब दिल्ली की कंपनी ने 10 रुपए प्रति किलो में खरीद ली सारी फसल

सही दाम नहीं मिलने पर गोभी के खेत में चलाया था ट्रैक्टर, अब दिल्ली की कंपनी ने 10 रुपए प्रति किलो में खरीद ली सारी फसल

समस्तीपुर। दो दिन पहले यह खबर सामने आई थी समस्तीपुर के मुक्तापुर गांव के किसान ओम प्रकाश यादव ने महज इसलिए अपने गोभी के खेत में ट्रैक्टर चला दिया था क्योंकि मंडी में कोई एक रुपए की दर से खरीदने को तैयार नहीं था। अब उस किसान को खरीदार मिल गया है। यह खरीदार भी बिहार का नहीं, बल्कि नई दिल्ली की बड़ी कंपनी है, जिसने किसान से दस रुपए प्रति किलो की दर से सारी फसल खरीद ली है। 


इस बात की जानकारी देते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि मीडिया के द्वारा मुझे खबर मिली थी कि बिहार के समस्तीपुर के मुक्तापुर गांव के किसान ओम प्रकाश यादव को अपने खेत में उगाई गोभी की फसल का स्थानीय आढ़त में मात्र एक रुपया प्रति किलो भाव मिल रहा था। निराश हो कर उन्होंने अपने खेत के कुछ हिस्से पर ट्रैक्टर चलवा कर फसल को नष्ट कर दिया। जिसके बाद मैंने अपने विभाग के कॉमन सर्विस सेण्टर को निर्देश दिया कि इस किसान से संपर्क कर इनकी फसल को देश के किसी भी बाज़ार में उचित मूल्य पर बेचने का प्रबंध किया जाये। CSC के डिजिटल प्लेटफॉर्म ई-किसान मार्ट पर इस किसान को दिल्ली के एक खरीदार ने दस रूपये प्रति किलो का मूल्य ऑफर किया।

कुछ ही घंटे में खाते में पहुंच गई रकम
किसान और खरीदार की आपसी सहमति कुछ ही घंटों में किसान के बैंक खाते में आधी राशि एडवांस के रूप में पहुँच गई। आज मुझे पता चला है कि न सिर्फ ट्रांसपोर्ट उपलब्ध करवाया गया बल्कि बची हुई राशि भी किसान के बैंक खाते में जमा हो गई है और समस्तीपुर की गोभी दिल्ली के लिए रवाना हो गई है।अब स्थानीय दाम से दस गुना अधिक दाम पर दिल्ली में अपनी फसल बेच पाया है। 

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह नए कृषि कानून के फायदो को बताता है, जिसके कारण किसानों को मंडी से बाहर देश में कहीं भी अपनी फसल बेचने की छूट मिल गई है।  


Find Us on Facebook

Trending News