संबित पात्रा ने राजद कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना, कहा इन्होंने अपहरण, बलात्कार और लूट का इंडस्ट्री लगाया था

संबित पात्रा ने राजद कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना, कहा इन्होंने अपहरण, बलात्कार और लूट का इंडस्ट्री लगाया था

GAYA : आज बिहार के गया में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया. जिसमें उन्होंने राजद सुप्रीमो लालू यादव और उनके पुत्र तेजस्वी यादव पर जमकर निशाना साधा. संबित पात्रा ने बताया कि जिस तरह लालू प्रसाद यादव अपने कार्यकाल में बिहार की भोली-भाली जनता से जमीन हड़प कर अकूत संपत्ति बनाया. आज ईडी उन संपत्तियों को जब्त कर रही है. 

पात्रा ने कहा की फिर तेजस्वी यादव अपने पिता के नक्शे कदम पर चलकर बिहार की भोली भाली जनता को 10 लाख नौकरी देने का झांसा देकर बेवकूफ बनाने का काम कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि एक तरफ नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार का  विकासशील देश और बिहार का तस्वीर है तो दूसरी तरफ कांग्रेस, आरजेडी और वामपंथी विचारधाराओं का जमावड़ा है. भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और अराजकता का पर्याय बन चुके लालू यादव के शासनकाल की छवि आज तेजस्वी में दिखती है. बिहार की जनता बड़ी अच्छी तरह से समझती है कि आज बिहार को विकास के रास्ते पर कैसे ले जाना है. 

उन्होंने कहा की जिस पार्टी में बम ब्लास्ट के आरोपी आफताब आलम को टिकट दिया जाता है. जिस पार्टी में जिन्ना को आदर्श मानने वाले को चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया जाता है. ऐसी पार्टी की ऑडियोलॉजी क्या होगी और देश को किस ओर ले जाएगा. यह सर्वविदित है. बिहार की भोली-भाली जनता 10 वर्ष कांग्रेस को झेली है और 15 वर्ष राष्ट्रीय जनता दल की भ्रष्ट सरकार को. जिस सरकार में चारा घोटाला और अलकतरा घोटाला आदर्श बना हो. वैसे सरकार से बिहार के विकास की कैसे परिकल्पना की जा सकती है? पात्रा ने कहा कि वर्ष 90 की दशक से लेकर 2005 तक तत्कालीन सरकार ने 95 हजार नौकरियां दी थी. लालू और कांग्रेस के शासनकाल में सरकारों ने बिहार में अपहरण, बलात्कार और लूट का इंडस्ट्री लगाया था. दिन के उजाले में बिहार की जनता सड़कों पर निकलने से डरती थी. महिलाएं घर में भी सुरक्षित नहीं थी, सड़कों की बात तो छोड़िए.

उन्होंने कहा की बिहार की पवित्र भूमि को बदनाम करने की कोशिश लालू और कांग्रेस की सरकार ने की है. 25 वर्षों के इतिहास में कांग्रेस और लालू यादव ने मिलकर बिहार को रसातल में धकेल दिया. संबित पात्रा ने कहा कि बिहार में एक तरफ नीतीश कुमार और मोदी जी का चेहरा है लेकिन दूसरी तरफ कौन है? यह बिहार की जनता नहीं समझ पा रही है. मतलब साफ है की नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी के सामने बिहार में फिलहाल कोई चेहरा साफ नहीं है. हर हाल में विकल्प नीतीश कुमार ही है. आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा गया के गांधी मैदान में 23 अक्टूबर को होने वाली प्रधानमंत्री की सभा के पूर्व व्यवस्था का निरीक्षण करने पहुंचे थे. इनके साथ स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे भी साथ थे. आपको बता दें कि गया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी सभा की तैयारी जोर शोर से चल रही है. 

वहीँ भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संदीप पात्रा ने आज सासाराम में महागठबंधन पर करारा प्रहार किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राजद के लोग अपने 'कुल' का उद्धार और विकास के लिए काम कर रहे हैं. जबकि एनडीए लोगों के बीच 'पुल' का काम कर रही है. इतना ही नहीं मां गंगा नदी के ऊपर 13 पुल बनाए गए हैं. एनडीए को 'पुल' की चिंता है और कांग्रेस तथा राजद को अपने अपने कुल की चिंता हैं. उन्होंने सासाराम में कहा की 15 साल राजद तथा 10 साल कांग्रेस की सरकारों ने एनडीए सरकार को समतल जमीन भी नहीं दिया था. गड्ढे भरने में और वहां पर नया निर्माण करने में ही पूरा समय लगा है. इसलिए जनता इस बार फिर एनडीए को मजबूत करेगी. वहीं भाजपा नेता अश्वनी चौबे ने भी प्रेस वार्ता को संबोधित किया तथा केंद्र और राज्य सरकार की विकास योजनाओं की चर्चा की. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News