अब जीतनराम मांझी के बेटे ने भी ठोंकी ताल, बोले- मैं भी किसी से कम नहीं...काबिलियत में चिराग,तेजस्वी से थोड़ा भी पीछे नहीं

अब जीतनराम मांझी के बेटे ने भी ठोंकी ताल, बोले- मैं भी किसी से कम नहीं...काबिलियत में चिराग,तेजस्वी से थोड़ा भी पीछे नहीं

NAWADA: बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के विधान पार्षद बेटे संतोष मांझी के भीतर भी मंत्री-मुख्यमंत्री बनने को लेकर कुलांचे मारने लगा है। आज उन्होंने अपनी मंशा भी जाहिर कर दी। उन्होंने कहा है कि तेजस्वी या चिराग जैसी राजनीति उन्हें विरासत में नहीं मिली। अगर काबिलियत की बात की जाए तो मुझमें भी काबिलियत कम नहीं है। अगर वो पढ़े लिखे हैं तो मैं भी पढ़ा लिखा हूं और हर क्षेत्र में काम करने का माद्दा रखता हूं।

जीतन राम मांझी के पुत्र संतोष मांझी ने कहा कि वह आज जो भी है जनता और गरीब दुखियों की लड़ाई लड़कर यहां तक पहुंचे हैं। मेरी ऐसी कोई आकांक्षा नहीं है कि सीएम बने, लेकिन गरीबों दुखियों की वह सेवा करते आए हैं और एक बड़ा जमात जब मेरे साथ है। उनके हक की लड़ाई के लिए लड़ते हैं तो मुझे भी आकांक्षा है कि मैं भी मुख्यमंत्री बनूं।

बता दें कि लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव को सीएम प्रोजेक्ट करने को लेकर इन दिनों जबर्दस्त रूप से मांग उठी है।राजद ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि महागठबंधन में तेजस्वी यादव ही सीएम कैंडिडेट होंगे।

 बिहार में महागठबंधन का नेता कौन होगा, इसको लेकर शह-मात खा खेल चल रहा है।महागठबंधन की सहयोगी दल में राजद को छोड़कर अधिकांश दलों ने तेजस्वी यादव को नेता मानने से इनकार कर दिया है।बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने तेजस्वी यादव को महागठबंधन का नेता मानने से इंकार कर दिया है।उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव महागठबंधन के नेता नहीं हैं।वे अपनी पार्टी के नेता हो सकते हैं लेकिन महागठबंधन के नहीं।कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि इस बार के लोकसभा चुनाव में भी तेजस्वी यादव महागठबंधन के नेता नहीं थे।चुनाव में राहुल गांधी नेता थे और उन्हीं के नेतृत्व में लोकसभा का चुनाव लड़ा गया था।

Find Us on Facebook

Trending News