जिल्लत से बचने के लिए सिपाही ने खुद को मारी गोली, पुलिस महकमे में खलबली

SASARAM : सासाराम में एक सिपाही ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की कोशिश की। लेकिन वो अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाया और बुरी तरह जख्मी हो गया। गंभीर रूप से घायल सिपाही का इलाज वाराणसी के एक अस्पताल में चल रहा है। बताया जा रहा है कि रोहतास के धर्मपुरा ओपी थाना में पदस्थापित सिपाही उमाकांत शर्मा ने सोमवार को अपने साथी की पिस्टल से खुद को गोली मार ली। चर्चा है कि गलत काम करते ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया था और पुलिस के हवाले कर दिया था, जिसके बाद से वह तनाव में था और जिल्लत से बचने की खातिर उसने यह आत्मघाती कदम उठाया।

हालांकि किसी ने ऐसा सोचा नहीं था कि पुलिस की हिरासत में ही उमाकांत साथियों की पिस्टल से खुद को गोली मार लेगा। सोमवार को जिले के नोखा थाने में छेड़खानी में गिरफ्तार किए गये उमाकांत ने थाने के मुंशी का रिवॉल्वर लेकर खुद को गोली मार ली। गोली सिर में लगी थी। जख्मी हालत में सिपाही को बेहतर इलाज के लिए वाराणसी भेजा गया। 

मिली जानकारी के अनुसार जिले के धर्मपुरा ओपी में पदस्थापित 25 वर्षीय सिपाही उमाकांत शर्मा बीती रात उसी गांव के एक घर की महिला से छेड़खानी करते रंगे हाथ पकड़ा गया था। लोगों के चंगुल से निकलने के लिए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के आदेश पर उसे गिरफ्तार किया गया। प्राथमिकी नूनसारी के मुखिया अशोक भारती के बयान पर दर्ज हुई। गिरफ्तार सिपाही की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उसे नोखा थाने के हाजत में रखा गया था। 

सोमवार की दोपहर शौच के लिए उसे हाजत से निकाला गया था। इसी बीच मौका देख कर उसने मुंशी से रिवॉल्वर लेकर अपने सिर में गोली मार ली। सासाराम के एएसपी राजेश कुमार ने कहा कि घायल स्थिति में उसे सदर अस्पताल सासाराम लाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उसे बेहतर इलाज के लिए वाराणसी रेफर कर दिया। उन्होंने बताया कि पुलिस सुरक्षा में उसे वाराणसी भेजा गया है। उमाकांत 2015 बैच का सिपाही है। औरंगाबाद जिले के देव थाना क्षेत्र के भरतपुरा गांव के रहनेवाले अरुण शर्मा उसके पिता हैं।


Find Us on Facebook

Trending News