सुप्रीम फैसला: अयोध्या मामले पर 6 अगस्त से खुली अदालत में सुनवाई

इस वक्त की बड़ी खबर सुप्रीम कोर्ट से आ रही है। अयोध्या मामले पर 6 अगस्त से खुली अदालत में रोजाना सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मध्यस्थता कमेटी कामयाब नहीं हो पाई है। मध्यस्थता कमेटी से कोई नतीजा नहीं निकला है। हफ्ते में तीन दिन नियमित सुनवाई की जाएगी। सुनवाई मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को होगी।

इससे पहले अयोध्या राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर बनाए गए मध्यस्थता पैनल ने गुरुवार को अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंप दी है। मध्यस्थता कमेटी इस विवाद का समाधान करने को लेकर अक्षमता जाहिर की है। 

सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 8 मार्च को सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एफ. एम. कलीफुल्ला की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति गठित की थी, जिसे मामले का सर्वमान्य समाधान निकालना था। मध्यस्थता समिति में आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पांचू भी शामिल थे।

मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि हम इस मामले पर विभिन्न पहलुओं पर गौर करेंगे। पहले मामले की सुनवाई शुरू होने दीजिए। मामले की सुनवाई के दौन भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी भी मौजूद रहे।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सभी वकील अपने-अपने मामलों से संबंधित दस्तावेज तैयार कर लें जिन्हें आधार बनाकर वे बहस करेंगे। जिससे इस मामले से संबंधित दस्तावेजों की रजिस्ट्री पूरी कराई जा सके।


Find Us on Facebook

Trending News