दूसरे के घरों से मांग कर जीवन यापन करने वाली महिला ने स्कूल बनाने के लिए दान में दी चार कट्ठा जमीन

दूसरे के घरों से मांग कर जीवन यापन करने वाली महिला ने स्कूल बनाने के लिए दान में दी चार कट्ठा जमीन

न्यूज़ 4 नेशन डेस्क : आज के समय में एक तरफ जहां एक गज जमीन के लिए मर्डर जैसी घटनाओं को सरेआम अंजाम दिया जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ बेतिया के नौतन प्रखंड के शिवराजपुर गांव की रहने वाली शांति कुंवर ने विद्यालय बनाने के लिए अपना चार कट्ठा जमीन को दान कर दिया. 

शांति कुंवर का कोई बच्चा नहीं है और उनके पति की मौत काफी समय पहले हो गई है. वे दूसरे के घर में मांग कर खाना खा अपना जीवन यापन करती हैं. शांति कुंवर के नाम पर चार कत्था जमीन था जिसे वह विद्यालय बनाने के लिए सरकार को दान दे दें. उनके जमीन पर अभी सरकार द्वारा हाई स्कूल बनाया जा रहा है. 

भूमिदाता महिला शांति कुंवर के पति दरोगा पांडे का दो दशक पहले देहांत हो गया था. जिसके बाद से महिला दूसरे के घर से मांग कर अपना जीविका चलाती थी. उसे एक कसक थी की उसका कोई नहीं है तो महिला ने गांव के ही सभी बच्चों को गोद ले लिया और बच्चों के लिए ही अपनी पूरी चार कट्ठा जमीन दान कर दी. विद्यालय भवन का निर्माण कार्य जारी है, भवन बन जाने के बाद विद्यालय का नाम शांति कुँवर होगा। जिला शिक्षा पदाधिकारी हरेंद्र झा ने बताया कि शांति कुँवर ने इतिहास रचा है. सरकार की मदद की है लेकिन वो अमर ही गई.

Find Us on Facebook

Trending News