आशीर्वाद इंजीकॉन पर शिकंजाः निदेशक अजय सिंह पर दर्ज होगा धोखाधड़ी का मुकदमा, पीड़ित बैंकर्स ने SSP से फिर से लगाई गुहार

आशीर्वाद इंजीकॉन पर शिकंजाः निदेशक अजय सिंह पर दर्ज होगा धोखाधड़ी का मुकदमा, पीड़ित बैंकर्स ने SSP से फिर से लगाई गुहार

PATNA: पटना के पांच सौ बैंकर्स से 50 करोड़ की ठगी करने वाले आशीर्वाद इंजीकॉन कंपनी के निदेशक पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू हो गई है। पीड़ित ग्राहकों ने आज पटना एसएसपी से मुलाकात की। बैकर्स ने एसएसपी से फरियाद किया कि बिल्डर अजय सिंह 2014 से ही फ्लैट देने के नाम पर करीब पांच सौ लोगों से पैसा लेकर बैठा है। आज तक वो फ्लैट नहीं दिया। जब बिल्डर से बात करने गये तो उल्टे उसने श्रीकृष्णापुरी थाने में केस दर्ज करा दिया। शिकायत सुन एसएसपी ने संज्ञान लिया। 

दर्ज होगा धोखाधड़ी का केस 

पीड़ित बैंक कर्मी अमरेंद्र नारायण सिंह ने एसएसपी से मुलाकात के बाद कहा कि हमारी बात को वरीय पुलिस अधीक्षक ने सुना। हमने आशीर्वाद इंजीकॉन के निदेशक अजय सिंह के फर्जीवाड़े की पूरी कहानी बताई है। इसके बाद एसएसपी ने थानेदार से पूरी जानकारी ली। साथ ही निर्देश दिया है कि बिल्डर के खिलाफ 420 का केस दर्ज करें। अब संभावना है कि धोखाधड़ी करने वाले बिल्डर पर कार्रवाई हो सकती है। 

बिहटा में प्लैट देने के नाम पर करोड़ों की ठगी के आरोप 

पीड़ित ने बताया कि आशीर्वाद इंजीकॉन कंपनी के निदेशक अजय सिंह ने बिहटा में प्रोजेक्ट के नाम पर इंडियन ओवरसीज बैंक से जुड़े 250 लोगों से 2014 में ही पैसा लिया था।सात साल बाद भी ग्राहकों को न फ्लैट मिला और न पैसा ही वापस हुआ. 12 जून को जब 25-30 ग्राहक आशीर्वाद इंजीकॉन के निदेशक अजय सिंह से फ्लैट की मांग करने दफ्तर गए तो उल्टे बिल्डर ने बाउंसरों से मिलकर ग्राहकों को पिटवाया। इतना से भी मन नहीं भरा तो बिल्डर ने थाने में मारपीट का केस दर्ज करा दिया है। राजधानी की श्रीकृष्णापुरी पुलिस ने भी बिल्डर अजय सिंह के आवेदन पर बिना कुछ समझे आनन-फानन में केस भी दर्ज कर लिया. इधर ग्राहकों ने साफ कहा है कि पिटाई भी हमलोगों की ही, उल्टे केस भी हमलोगों पर ही। वैसे इन सब बातों से वे लोग डरने वाले नहीं हैं। वे सब बैंक कर्मी हैं .बिल्डर को एग्रीमेंट के आधार पर फ्लैट देना होगा। 

आवेदन मिलने पर बिल्डर के खिलाफ दर्ज होगा केस-पुलिस 

पीड़ित ग्राहक विनोद सिंह ने कहा है कि हमलोग अपने फ्लैट की मांग करने बिल्डर अजय सिंह के पास गये थे। बिल्डर ने बाउंसर बुलाकर हमलोगों के साथ मारपीट किया है। उन्होंने बताया कि श्रीकृष्णापुरी थाने की पुलिस भी संदेह के घेरे में है। बिल्डर के दफ्तर में सीसीटीवी लगा हुआ है। अगर हमलोग लाठी-डंडा और लोहे की रॉड लेकर उसके दफ्तर गये थे तो पुलिस पहले सीसीटीवी का वीडियो जांच कर ले। सब कुछ साफ हो जायेगा। उन्होंने बताया कि बिल्डर पूरी तैयारी से था और वहां बाउंसर तैनात कर रखा था। हमलोगों के साथ मारपीट की गई है। हमलोगों ने इस मामले की जानकारी पटना एसएसपी को दी है। हमलोगों ने आठ साल पहले पैसा दिया है। आशीर्वाद इंजीकॉन ने सैकड़ों ग्राहकों के साथ धोखा किया है। ऐसे में हमलोगों की लड़ाई जारी रहेगी। वहीं, श्रीकृष्णानगर थाने की पुलिस का कहना है कि अभी तक ग्राहकों की तरफ से थाने में कोई आवेदन नहीं आया है। आवेदन मिलने के बाद कार्रवाई की गई.


Find Us on Facebook

Trending News