एसडीएम वर्षा सिंह की दादागिरी, धरने पर बैठे ABVP के छात्र नेता को मारी थप्पड़

एसडीएम वर्षा सिंह की दादागिरी, धरने पर बैठे ABVP के छात्र नेता को मारी थप्पड़

N4N DESK:गोपालगंज में एसडीएम वर्षा सिंह की दादागिरी सामने आई है।एसडीएम ने धऱना पर बैठे एबीभीपी के छात्र नेता को थप्छपड़ जड़ दी है।मामला यह है कि  सत्र 2017-19 के स्नातक पार्ट-1 में प्रमोटेड छात्रों का परीक्षा फॉर्म नहीं भरे जाने को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेताओं ने कमला राय कॉलेज गोपालगंज में जमकर हंगामा किया. इस दौरान आक्रोशित छात्रों ने प्राचार्य को उनके कक्ष में ताला जड़ दिया और धरने पर बैठ गए. इस दौरान अपनी मांगों को लेकर प्राचार्य और कुलपति के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गएं.

आक्रोशित छात्रों ने प्राचार्य को बनाया बंधक

कमला राय कॉलेज में अपनी मांगों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे छात्र नेताओं ने प्रचार्य को घंटों बंधक बनाए रखा.वही सूचना मिलने पर सदर एसडीएम वर्षा सिंह ने सदर बीडीओ पंकज शक्तिधर को कॉलेज में भेजा लेकिन आक्रोशित छात्रों ने उन्हें भी प्राचार्य कक्ष में बंद कर दिया।

 इसकी जानकारी जब एसडीएम को हुई तब उसने अपने दल बल के साथ कॉलेज पहुंच कर धरना पर बैठे छात्रों को हड़काना शुरू की और तत्तकाल आंदोलन खत्म करने व प्राचार्य कक्ष का ताला खोलने की बात कही जब तक छात्र कुछ समझा पाते तब तक उन्होंने कॉलेज अध्यक्ष प्रिंस नेता को थप्पड़ जड़ दिया वही मौके पर मौजुद कुछ छात्रों ने एसडीएम के इस हरकत को अपने कैमरे में कैद कर लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि एसडीएम कितनी गुस्से में थी और छात्र नेता को हड़काते हुए कहा कि देखती हूं तुम कितने बड़े नेता हो तुम पर एफआईआर करूंगी। इस मौके पर छात्र नेता प्रिंस कुमार ने बताया कि काफी आंदोलन के बाद बीए सत्र 2018-20 के परीक्षा फर्म भरने की तिथि बढ़ाई गई थी. इस दौरान सत्र 2017-19 के प्रमोटेड कई छात्र वंचित रह गए थे. इनका फॉर्म कॉलेज प्रशासन नहीं ले रहा है जिससे छात्रों का भविष्य बर्बाद हो रहा है. 

इसी मांग को लेकर छात्रों ने धरना प्रदर्शन किया है. छात्रों का आरोप है कि जिला प्रशासन की ओर से छात्रों पर थप्पड़ भी चलाया गया और जबरन हटाया गया. वहीं सदर बीडीओ पंकज शक्तिधर ने बताया कि आक्रोशित छात्रों ने प्राचार्य को उनके कक्ष में ताला बंद किया था. छात्रों को समझा बुझा कर ताला खुलवाया गया.

हालांकि एसडीएम वर्षा सिंह द्वारा किसी छात्र नेता को पिटने की बात को खारिज किया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News