बिहार की जेलों पर सुरक्षा का संकट ! जेल IG ने सुरक्षा ऑडिट के लिए सभी जिलाधिकारी को लिखा पत्र

बिहार की जेलों पर सुरक्षा का संकट ! जेल IG ने सुरक्षा ऑडिट के लिए सभी जिलाधिकारी को लिखा पत्र

PATNA : बिहार के जिलों में बंद कैदी आराम से मोबाइल ले जाते हैं। जेलों में सघन तलाशी नहीं ली जाती है। जेलों की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियो  की  कैदियों और स्थानीय लोगों से मिली भगत होती है।

यह हम नही कह रहे बल्कि  बिहार के जेल महानिरीक्षक मिथिलेश मिश्र ने  बिहार के सभी डीएम और एसपी को लिखे पत्र में कहा है।

उन्होंने बिहार के सभी डीएम और एसपी को लिखे पत्र में कहा है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सबकी  जिम्मेदारी है कि  जेलों की सघन तलाशी ली जाए, क्योंकि लगातार सूचनाएं आती रही हैं कि जेलों में बंद कैदी खुलेआम मोबाइल का प्रयोग करते हैं। इसलिए समय-समय पर जेलों की तलाशी ली जाए। उन्होंने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि काफी लंबे समय से एक ही जेलों में प्रतिनियुक्त सिपाही और पुलिसकर्मियों की कैदियों और स्थानीय लोगों से मिली भगत होती है। जिसकी वजह से जेल की सुरक्षा पर खतरा हो सकता है। ऐसी स्थिति में वैसे पुलिसकर्मियों को हटाकर दूसरे पुलिसकर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जाए।

कारा महानिरीक्षक ने अपने पत्र में 10 बिंदुओं पर सुरक्षा ऑडिट करने को लेकर लिखा है। जेल IG ने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि अभी चुनाव का समय है लिहाजा लगातार छापेमारी होती रहनी चाहिए। अगर जेल की सुरक्षा में कोई सरकारी कर्मी की मिलीभगत जी बात आती है तो उसपर भी कार्रवाई होनी चाहिए।

जेल IG ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कि कारा की भूमि का अतिक्रमण कर लिया गया है। लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नही हो रही। प्रशासन तत्काल उसपर कार्रवाई करे।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News