गंगा के जलस्तर को देखकर प्रशासन ने लागू किया धारा 144 ताकि कोई नदी के पास न जा सके, लेकिन नहीं मान रहे लोग, तस्वीरें हैं गवाह

गंगा के जलस्तर को देखकर प्रशासन ने लागू किया धारा 144 ताकि कोई नदी के पास न जा सके, लेकिन नहीं मान रहे लोग, तस्वीरें हैं गवाह

BUXER :  बक्सर में गंगा नदी का जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। बढ़ते जलस्तर को देखते हुए प्रशासन हाई अलर्ट जारी करते हुए घाटों पर 144 धारा लगा दिया गया है। गंगा के बढ़ते जलस्तर ने लोगों को चिंता में डाल दिया है। इस चिंता का कारण है नदी में नहानेवालों की मौजूदगी। जिनको रोकना मुश्किल होता जा रहा है। लोग खुद नदी में स्नान करने तो जा रहे हैं, साथ में बच्चों को भी बाढ़ में लेकर जाने से परहेज नहीं कर रहे हैं।

दरअसल गंगा चेतावनी लेवल से ऊपर बह रही है गंगा नदी, और डेंजर लेवल से महज 85 सेंटीमीटर ही दूर है। ऐसे में केंद्रीय जल परिषद द्वारा गंगा के जल वृद्धि में रिकॉर्ड किए जा रहे आंकड़े न केवल चौंकाने वाले हैं बल्कि आने वाले समय में गंगा का जलस्तर बढ़ने का रफ्तार अगर इसी तरह रहा तो जिले के दियारा इलाके के लोगों की मुश्किलें और भी बढ़ सकती है। बक्सर एसडीएम केके उपाध्याय ने बताया कि फिलहाल इस वक्त गंगा के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए गंगा घाटों पर स्नान करने और नदी में नाव का परिचालन सहित मछली मारने पर भी पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है। घाटों पर थाना के अस्तर से चौकीदार की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है। आबादी वाले जगहों पर नावों की व्यवस्था की गई है ताकि गंगा का जलस्तर बढ़ता है तो उन्हें सुरक्षित स्थान भेजा जाए।

प्रशासन का आदेश ताक पर

वहीं घाट के पुजारी लाला बाबा ने बताया कि प्रतिबंध के बावजूद भी घाट पर स्नान कर रहे हैं श्रद्धालु, जहां प्रशासन मुस्तैद नहीं है। ऐसे में कोरोना पर आस्था भारी पड़ता दिखाई दे रहा है। यहां लोग नदी में जाने का खतरा मोल ले रहे हैं। जिन पर प्रशासन के आदेश का कोई भी असर नहीं हो रहा है। 

    बहरहाल गंगा का जलस्तर इसी तरह बढ़ता रहा तो वह दिन दूर नहीं कि जब खासकर दियारा इलाके में घरों में भी पानी घुस जाएगा तथा बाढ़ के पानी में विषैले जीव जंतु भी लोगों को परेशान करेंगे। तटबंध इलाकों में अधिकारियों की चहलकदमी भी दिखाई पड़ रही है।



Find Us on Facebook

Trending News