शाबास बिहारी : बिहार में जनसंख्या विस्फोट, आबादी 12 करोड़ से पार,जनसंख्या बढ़ाने में बिहारी नम्बर वन

शाबास बिहारी : बिहार में जनसंख्या विस्फोट, आबादी 12 करोड़ से पार,जनसंख्या बढ़ाने में बिहारी नम्बर वन

NEWS4NATION DESK : बिहार में बहार है जनसंख्या के विस्फोट पर सवार है ,नीतीशे कुमार है। दिन दूना रात चौगुना से भी ज्यादा गति से बिहार और बिहारी जनसंख्या बढाने में लगे हुए हैं। उसका परिणाम यह है कि जहां 2001 से 2011के बीच देश की जनसंख्या वृद्धि दर 17. 64 फीस दी थी तो वहीं बिहार में यह 25.7 फ़ीसदी रही।

उसका परिणाम यह रहा कि बिहार की जनसंख्या 10 करोड़ 38 लाख हो गयी।

बिहार के हर जिले की आबादी 27 लाख से ज्यादा

बिहार में बाकी कुछ का बाहर हो या न हो लेकिन बिहारी और बिहार सरकार जनसंख्या बढाने के बहार में जरूर लगे हुए हैं। यहां हरेक जिले की आबादी औसतन 27 लाख से पार कर गया है।जनसंख्या वृद्धि दर के आधार पर ही बिहार की जनसंख्या 2018 में 12 करोड़ से ज्यादा आंकी गयी है। 

सबसे हैरान करने वाली बात यह है जहां देश का जनसंख्या घनत्व 382 व्यक्ति वर्गकीलोमीटर है वही बिहार का राष्ट्रीय औसत से तीन गुना अधिक 1106 व्यक्ति प्रति कीलोमिटर है।

जनसंख्या बढाने में दक्षिण बिहार को उत्तर बिहार ने पीछे किया

हद है,गजब की प्रतियोगिता बिहार में चल रहा है, शिवहर एक ऐसा जिला है जहां जनसख्या घनत्व 1400 व्यक्ति प्रति वर्गकीलोमिटर है। एक तरफ जहां जीविकोपार्जन का सबसे बड़ा संसाधन जमीन है वहां जनसंख्या वृद्धि प्रतियोगिता को नियंत्रण में लाने के लिये सरकार भी कोई ठोस योजना नहीं ला पा रही है।

अगर इसी तरह से जनसंख्या बढ़ते रहा है तो बिहार का भविष्य क्या होगा इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है ।


Find Us on Facebook

Trending News