शहीद प्रवीण कुमार का पार्थिव शरीर पहुंचा बोकारो, ग्यारह वर्षीय पुत्र ने दी मुखाग्नि

शहीद प्रवीण कुमार का पार्थिव शरीर पहुंचा बोकारो, ग्यारह वर्षीय पुत्र ने दी मुखाग्नि

 BOKARO: श्मशान घाटों पर अक्सर मृतकों के परिजनों के आँखों में ही दुःख के आँसू देखे जाते है. लेकिन कई मौके ऐसे भी होते है जब वहाँ उपस्थित सभी लोग पार्थिव शरीर को देखकर रो पड़ते है. शनिवार को ऐसा ही नजारा बोकारो के गरगा नदी के श्मशान घाट में देखने को मिला. 

यहाँ नायब सूबेदार प्रवीण कुमार के पार्थिव शरीर को दाह संस्कार के लिए लाया गया था. लोगों की आंखे उस वक्त नम हो गयी. जब उनके ग्यारह वर्षीय पुत्र प्रियांशु को मुखाग्नि के लिए घाट पर लाया गया. लोगों की आँखों में तब आँसू छलक आये जब उनकी बेटी ने भारत माता की जय के नारे लगाये. इसके पहले सुबह के आठ बजे उनके पार्थिव शरीर को बोकारो लाया गया. 

शवयात्रा उनके आवास से चलकर गरगा पहुंचा जहां उन्हें पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद सलामी दी गई. वही जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया. श्मशान घाट पर प्रवीण के अधिकारियों, स्थानीय अधिकारियों, पिता, बेटियां, रिश्तेदारों ने पुष्पांजलि अर्पित कर भावभीनी श्रधांजलि दी. 

श्मशान घाट घंटों वीर शहीद अमर रहे के नारे से गूंजता रहा. मौके पर भाजपा सांसद पीएन सिंह ने भी पहुंचकर उन्हें श्रधांजलि दी. बताते चले की आपरेशन मेघदूत के लिए जाने के दौरान नायब सूबेदार के सिर में चोट लग गयी थी. इसके बाद लेह में वे शहीद हो गए थे.

बोकारो से मृत्युंजय की रिपोर्ट  

Find Us on Facebook

Trending News